मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली की सातों सीटों पर किया जीत का दावा, क्या कांग्रेस संग नहीं होगा गठबंधन

नई दिल्ली (ईएमएस))। लोकसभा चुनाव 2024 में दिल्ली की 7 सीटों पर आम आदमी पार्टी और कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ेंगी या नहीं, इस पर संशय बरकरार है। आधिकारिक ऐलान नहीं होने के कारण महज कयास ही लगाए जा रहे हैं। ऐसे में आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के तरनतारन में रैली के दौरान ऐलान किया कि दिल्ली के लोगों ने इस बार ठान लिया है कि दिल्ली की सातों लोकसभा सीटें इस बार आम आदमी पार्टी को ही देंगे। इस बात के ये मायने निकाले जा रहे हैं कि दिल्ली में आप कांग्रेस से गठबंधन करने के मूड में नहीं है।

यहां आयोजित एक रैली को संबोधित कर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भाजपा को डर है कि केंद्र में आप की सरकार बन जाएगी। आज की स्थिति में भाजपा सिर्फ और सिर्फ आम आदमी पार्टी से ही डरती है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में आम आदमी पार्टी तेजी से बढ़ी है। वैसे तो आप महज 10 साल का छोटा सा बच्चा है। इस छोटे बच्चे ने इतनी बड़ी पार्टी की नाक में दम कर रखा है। उन्होंने कहा कि आप उन्हें सोने नहीं देती। उन्हें नींद नहीं आ रही है। हम लोग उनके सपने में रात को भूत बनकर आते हैं। इसके साथ ही केजरीवाल ने केंद्र पर आरोप लगाते हुए कहा कि यहां पंजाब में हमें काम करने से रोका जा रहा है, और वहां दिल्ली में ये लोग हमें रोक रहे हैं।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि आप जैसी एक छोटी सी पार्टी ने 10 साल के अंदर पंजाब और दिल्ली में सरकार बना ली है। वहीं दूसरी तरफ गुजरात और गोवा में विधायक बने हैं। जहां भी पार्टी उम्मीदवार चुनाव लड़ते हैं, वहां खूब सारे वोट उनके खाते में आते हैं। ऐसे में भाजपा को डर है कि यह पार्टी इसी तरह आगे बढ़ती रही तो एक दिन केंद्र में आम आदमी पार्टी की ही सरकार बन जाएगी। यहां केजरीवाल ने कहा कि भाजपा की 30 साल से गुजरात में और 15 साल से मध्य प्रदेश में सरकार है, लेकिन एक भी स्कूल ठीक नहीं कर पाए हैं और ना ही बिजली व्यवस्था बेहतर कर पाए। उन्होंने कहा कि अगर हिम्मत है तो वही काम करके दिखाएं. जो काम आम आदमी पार्टी करती है।

Back to top button