‘मुन्नाभाई MBBS’ के इस एक्टर ने छोड़ दी मुंबई, अब गुफा में कट रही जिंदगी, हालत देख नहीं होगा यकीन

बॉलीवुड में कई ऐसे कलाकार हुए जिन्होंने इंडस्ट्री में अपना खूब नाम कमाया।  तो कई ऐसे कलाकार भी हैं जिन्होंने अपनी अदाकारी का लोहा तो अपनी पहली ही फिल्म में मनवा लिया, लेकिन उसके बाद कुछ खास सफल नहीं हो पाए। वहीं यूं तो हर हफ्ते कोई ना कोई फिल्म रिलीज होती ही है, लेकिन बहुत कम फिल्में ऐसी होती है, जो दर्शकों को सालों तक याद रहती हैं। और इन फिल्मों को यादगार बनाते हैं, इनके हर छोटे- बड़े कलाकार। जी हां, कई फिल्मों के छोटे कलाकार भी कई बार ऐसी दमदार एक्टिंग का अपना जलवा बिखेरते हैं कि उन्हें हम कभी नहीं भूल सकते और वो भी यादगार बन जाते हैं। इन्हीं यादगार फिल्मों में से एक है साल 2003 में आई फिल्म मुन्नाभाई एमबीबीएस । फिल्म में संजय दत्त, अशरद वारसी और बमन ईरानी की दमदार एक्टिंग तो हम सब ने देखी, लेकिन क्या आपको याद है वो शख्स जिसे मुन्नाभाई ने जादू की झप्पी दी थी।

दरअसल यहां हम बात कर रहे हैं फिल्म में मेडिकल कॉलेज में झाड़ू-पोछा लगाने वाले एक्टर सुरेंद्र राजन की।  सुरेंद्र राजन को उनके नाम से बहुत ही कम लोग जानते हैं, वो अपने चेहरे से ही अपनी पहचान रखते हैं। फिल्म मुन्नाभाई एमबीबीएस में सुरेंद्र राजन का जो सीन था वह भले ही काफी छोटा सा ही था लेकिन वह सीन उनको पूरी फिल्म में यादगार बना गया था। आपको बता दें कि इस फिल्म के बाद सुरेंद्र राजन अचानक से फिल्म इंडस्ट्री से ऐसे गायब हो गए,  किसी को पता भी नहीं चला और वह पहाड़ों में जाकर बस गए। आजकल सुरेंद्र राजन हिमालय की तलहटी में अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। पिछले चार साल से उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित हिमालय के सबसे आखिरी गांव खुन्नू में वो रह रहे हैं। सुरेंद्र हिमालय में पत्थरों से बने एक कमरे के घर में रहते हैं जिसे उन्होंने एक रिटायर्ड फौजी से मांगा है। फौजी उस घर में चाय की दुकान चलाता था। गांव में जाने के लिए तकरीबन 17 किलोमीटर पहाड़ चढ़ना पड़ता है, इसलिए वे तीन-चार महीनों में शहर आकर साबुन, तेल जैसे सामान खरीदने आते हैं। झरनों से पानी की व्यवस्था हो जाती है, पास में एक नदी भी बहती है।

करीब चार साल बाद बाहरी दुनिया में आए सुरेंद्र ने लोगों से बातें की। इस दौरान उन्होंने मध्यप्रदेश का दौरा किया। उन्होंने बताया कि ‘लोगों को मेरा जीवन अजीब लग सकता है लेकिन मुझे लगता है कि सिर्फ पैसे के पीछे भागना अजीब है। मैंने कभी करियर जैसी चीज पर यकीन नहीं किया। मैंने काफी पहले सोच लिया था कि सिर्फ वही चीजें इकट्ठा करूंगा जो अपने साथ ऊपर ले जा सकूं।’ सुरेंद्र राजन का मानना है कि उन्होंने अपना जीवन काफी सही तरीके से जिया और जी रहे हैं।

सुरेंद्र एक एक्टर होने के साथ-साथ एक चित्रकार और बहुत ही अच्छे फोटोग्राफर भी हैं। सुरेंद्र के जीने का अंदाज भी लोगों से अलग है। वह काफी घुमक्कड़ और बेफिक्री से जीने वाले इंसान है। सुरेंद्र को अनिल कपूर की फिल्म लोफर में भी जबरदस्त अभिनय में देखा गया था।

Back to top button
E-Paper