मोरक्को में भूकंप से 296 लोगों की मौत, आंतरिक मंत्रालय ने कहा- बढ़ सकता है आंकड़ा

रबात, (हि.स.)। मोरक्को में शुक्रवार देररात हाई एटलस पहाड़ियों पर आए शक्तिशाली भूकंप से बड़े पैमाने पर क्षति हुई है। 296 लोगों के प्राण पखेरू उड़ गए। तमाम इमारतें नष्ट हो गई हैं। प्रमुख शहरों के लोगों को अपने घरों को छोड़ना पड़ा है।

मीडिया रिपोर्ट्स में मोरक्को के आंतरिक मंत्रालय के हवाले से कहा गया है कि प्रारम्भिक सूचनाओं के मुताबिक 296 लोगों की मौत हुई है और 153 लोग घायल हुए हैं। मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है। एक स्थानीय अधिकारी ने बताया कि ज्यादातर मौतें पहाड़ी इलाकों में हुई हैं, जहां तत्काल पहुंचना मुश्किल था।

रिपोर्ट्स में भूकंप के केंद्र के करीबी बड़े शहर मराकेश के लोगों के हवाले से कहा गया है कि पुराने शहर में कुछ इमारतें ऐसी ढह गई हैं, जो यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल सूची में शामिल हैं। एक स्थानीय टेलीविजन ने गिरी हुई मस्जिद की मीनार और क्षतिग्रस्त कारों पर पड़े मलबे के फुटेज दिखाए हैं।

आंतरिक मंत्रालय ने मृतकों की संख्या पर टेलीविजन पर प्रसारित अपने बयान में शांति का आग्रह किया है। मंत्रालय ने कहा है कि भूकंप ने अल हौज, उआरजाजेट, मराकेश, अज़ीलाल, चिचौआ और तारौदंत प्रांतों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है।

भूकंप के केंद्र के पास असनी के पहाड़ी गांव के मोंटासिर इतरी ने बताया कि हमारे गांव के अधिकांश घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। पड़ोसी मलबे में दबे हैं। ग्रामीण अपने संसाधनों से उन्हें बचाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

पास के गांव में रहने वाले शिक्षक हामिद अफकार ने कहा कि धरती लगभग 20 सेकंड तक हिलती रही। वह घर की दूसरी मंजिल से नीचे की ओर भागे।दरवाजे अपने आप खुल रहे थे और बंद हो रहे थे।

मोरक्को के भू-भौतिकी केंद्र ने कहा कि भूकंप हाई एटलस के इघिल क्षेत्र में आया। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.2 थी। अमेरिकी भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण ने भूकंप की तीव्रता 6.8 बताई है। उसने कहा है कि यह 18.5 किलोमीटर (11.5 मील) की अपेक्षाकृत उथली गहराई पर था।

Back to top button