यूपी में बेकाबू हुआ डेंगू : प्रदेश में 13 हजार के पार पहुंचा मरीजों का आकंड़ा, लखनऊ की हालत ख़राब

डेंगू से कराह रहे उत्तर प्रदेश में मौत के आकंड़े थम नही रहे। मच्छरों का हमला लगातार जारी है। अस्पतालों में भी बुखार के मरीजों की भरमार है। सोमवार को प्रदेश में 240 डेंगू के नए मरीज मिले। वहीं लखनऊ में भी बीमारी थम नही रही, यहां सोमवार को 28 नए मरीज पाएं गए।इस बीच सोमवार को डेंगू संक्रमित छात्रा की मौत की भी खबर है।

डेंगू से हुई छात्रा की मौत, लखनऊ में एक सप्ताह के भीतर दूसरी मौत

लखनऊ के काकोरी निवासी एक छात्रा की डेंगू से मौत हो गई। डेंगू से हुई छात्रा की मौत के बाद एक तरफ जहां पीड़ित परिवार में कोहराम मचा हुआ है, वहीं इलाके में सनसनी है। दरअसल, काकोरी के बढ़ौना गांव निवासी रविराज बीजेपी के मंडल अध्यक्ष हैं। उनकी बेटी वंशिका सातवीं क्लास की छात्रा थी। पांच दिन पहले उसे बुखार आया था। परिजनों ने सामान्य बुखार समझकर क्लीनिक से दवा ले ली। सुधार न होने पर नजदीकी निजी अस्पताल में दिखाया। यहां भी डेंगू की जांच नहीं कराई गई। शनिवार रात को छात्रा को उल्टी होने लगी। परिजनों ने रविवार को उसे बलरामपुर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया। यहां जांच में डेंगू की पुष्टि हुई। इमरजेंसी में मौजूद डॉक्टरों ने हालत बिगड़ता देख उसे ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया। यहां पहुंचने पर डॉक्टरों ने छात्रा को मृत घोषित कर दिया। लखनऊ में सप्ताहभर में डेंगू से यह दूसरी मौत है। डेंगू से हुई मौत बाद भी संबंधित सीएचसी-पीएचसी प्रभारियों को इसकी जानकारी तक नहीं हुई। सीएमओ डॉ. मनोज का कहना है छात्रा की कार्ड टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

13 हजार के पार पहुंचा प्रदेश में डेंगू मरीजों का आकंड़ा

प्रदेश में 1 जनवरी से अब तक मरीजों की संख्या 13 हजार 300 के नजदीक जा पहुंची है। लखनऊ में 28 डेंगू के मरीज मिले। इसके अलावा फैजुल्लागंज में 120 से अधिक लोग बुखार से पीड़ित हैं।।12 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। 32 घरों में लार्वा मिलने पर नोटिस जारी किया गया है।

लखनऊ में बेकाबू हुआ डेंगू

लखनऊ में 28 डेंगू के मरीज मिले। अकेले फैजुल्लागंज में 120 से अधिक लोग बुखार से पीड़ित हैं, यहां भी 12 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। इस बीच सोमवार को 32 घरों में लार्वा मिलने पर नोटिस जारी किया गया है।

अस्पतालों में मरीजों की भरमार

लखनऊ के अस्पतालों में बुखार के मरीजों की भरमार है। भारी संख्या में बुखार के मरीज अस्पतालों का रुख कर रहे है। लगभग सभी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड फुल है। डेंगू से निपटने के लिए बनाएं गए वार्ड भी फुल हो चुके है। इस बीच सोमवार से प्रदेश भर में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू किया गया है। यह अभियान 17 नवंबर तक चलेगा। इसके अलावा 18 अक्टूबर से एक नवंबर तक दस्तक अभियान भी चलाया जा रहा है।

Back to top button
E-Paper