योगी कैबिनेट के अहम फैसले : अयोध्या में 4 सौ करोड़ की लागत से बनेगा बस स्टेशन, पढ़े पूरी खबर

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सोमवार को प्रदेश कैबिनेट की महत्वपूर्ण हुई। कोरोना काल मे पहली बार लोकभवन में कैबिनेट बैठक हुई है। बैठक में कई प्रस्तावों पर मुहर लगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के लिए खजाना खोल दिया है। बस स्टेशन और फ्लाईओवर बनाने का निर्णय लिया गया। मुख्यमंत्री ने राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार व राज्य मंत्रियों के साथ भी बैठक की और उन्हें एजेंडा सौंपा। कोविड महामारी की दूसरी लहर के बाद यह प्रदेश कैबिनेट की पहली बैठक है। कैबिनेट मीटिंग में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है। अयोध्या में इंटरनेशनल स्टैंडर्ड का बस स्टेशन बनेगा। अयोध्या में जहां की यातायात व्यवस्था सुधारने पर ध्यान दिया जा रहा है, इसके लिए संस्कृति विभाग 9 एकड़ जमीन परिवहन विभाग को देगा।

यह अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बस स्टेशन बनेगा। 400 करोड़ का प्रोजेक्ट है। पीपीपी मॉडल की भी संभावना तलाशी जा रही है। वही अयोध्या सुल्तानपुर मार्ग पर बहुत ट्रैफिक है। यह नए एयरपोर्ट को जोड़ता है। इस पर 4 लेन का फ्लाईओवर बनेगा। इसके लिये 20.17 करोड़ की लागत से 1.5 किमी लम्बा फ्लाईओवर बनेगा। शिक्षा विभाग की जमीन इसके लिए दी जाएगी। अनूपशहर में नगरपालिका की जमीन निःशुल्क बस स्टेशन बनाने के लिए दी जाएगी।

प्रयागराज में जीटी रोड से एयरपोर्ट के बीच 4 लेन का रेलवे ट्रैक पर फ्लाईओवर बनेगा। 284 करोड़ लागत आएगी। टू लेन का एक और फ्लाईओवर कानपुर रोड को जोड़ेगा। जिसके लिए 98 करोड़ रुपये रेलवे देगा। इससे जाम की समस्या से निजात मिलेगी। बुंदेलखंड से कनेक्टिविटी बेहतर होगी। विकास प्राधिकरण के रिपेयर या मेंटिनेंस के लिये अभी शासन से अनुमति लेनी पड़ती थी। खासकर पर्यटन के विकास में बाधा आ रही थी। इसमें लखनऊ, प्रयागराज, आगरा, बनारस, आदि जिलों में प्राधिकरण पयर्टन का काम करा सकेंगे। लखनऊ में हैदर केनाल पर 120 एमलडी का एसटीपी बनेगा जिसमें 297.38 करोड़ का खर्च आएगा जिसका 88.53 करोड़ केंद्र, 125 करोड़ राज्य सरकार बाकी नगर निगम देगा। गोमती की सफाई हो सकेगी। 1090 चैराहे के समीप बन रहा है। लागत को मंजूरी दी गई है।वहीं मंत्रियों को ब्लॉक स्तर पर प्रवास का एजेंडा दिया गया है। जून-जुलाई में प्रभारी मंत्री अपने जिले के हर ब्लॉक में प्रवास करेंगे। एक दिन में दो ब्लॉक जाएंगे। इस दौरान उन्हें सरकारी योजनाओं, सीएससी, पीएचसी, कोटे की दुकान का निरीक्षण, कार्यकर्ताओं से संवाद व समन्वय बैठक करनी होगी। इसी कड़ी में मंत्रियों को 21 जून को योग दिवस पर प्रभार क्षेत्र में आयोजन से जुड़ना होगा। 23 जून से 6 जुलाई तक पौधरोपण अभियान चलेगा। 27 जून को हर बूथ पर मन की बात सुनी जाएगी। सभी मंत्री भी बूथ पर जाएंगे।

Back to top button
E-Paper