रहे सावधान ! आज ही इन 5 आदतों से करे ‘तौबा-तौबा’, नहीं तो किडनी को बना देगी कमजोर

भागती-दौड़ती जिंदगी के चलते अक्सर लोग अपनी डाइट का ख्याल नहीं रख पाते है। जंक फूड और ओवर ईटिंग की वजह से सेहत खराब होती जाती है। इसका असर शरीर के अंगों पर भी पड़ता है। इस कड़ी में किडनी पर भी बुरा प्रभाव होता है। किडनी शरीर से खून साफ कर यूरिन बनाने का काम करती है। किडनी ही हमें स्वस्थ्य बनाए रखती है। इसलिए बेहद जरुरी है कि हम डेली रुटीन में कुछ ऐसी आदतों को शामिल करें, जो किडनी के लिए फायदेमंद साबित हो, चलिए आज हम आपको बताते है कि ऐसे आदतों के बारे में, जिनसे आपको दूर रहना चाहिए। क्योंकि यही आदतें आपकी किडनी पर बुरा असर डालती है। 

सही मात्रा में पानी न पीना-  कुछ लोग बहुत ज्यादा पानी पीते है तो वहीं कुछ लोग बहुत कम पानी पीते है। अगर आप भी इन दोनों ही तरह के लोगों में शामिल है तो आपके लिए ये जानना जरूरी है कि ऐसा करना आपकी किडनी पर दबाव डालता है। कम पानी पीने से शरीर के विषैले तत्व शरीर में जमा होने लगते है। जिसकी वजह से आप कई बीमारियों की चपेट में आ सकते है। वहीं जरूरत से ज्यादा पानी पीने से किडनी पर दबाव बढ़ता है। जिससे किडनी प्रभावित होने लगती है।

ज्यादा पेन किलर लेना- कई लोगों की आदत होती है कि वो शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द होने पर तुरंत पेन किलर खा लेते है। कुछ लोग तो ऐसे हैं बिना डॉक्टर की सलाह लिए रोजाना पेन किलर खाते है। ऐसा करना आपकी सेहत पर बुरा असर डाल सकता है। खुद से एंटी बायोटिक या फिर पेन किलर लेना आपकी किडनी पर खराब असर डाल सकता है।

ना खाएं ज्यादा नॉनवेज– खाने में जो भी चीजें आप खाएं उसमें बैलेंस का होना बहुत जरूरी है। कई लोग नॉनवेज हफ्ते में करीब 4 से 5 बार खा लेते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाइए। रेड मीट का अधिक सेवन करने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ सकती है। जिससे कि आपकी किडनी में स्टोन भी हो सकता है। इसलिए इस बात का ध्यान जरूर रखें।

देर तक यूरिन रोकना- यूरिन को ज्यादा देर तक अगर आप पास नहीं करेंगे तो भी आपकी सेहत के लिए हानिकारक है। ऐसा करने से किडनी से बाहर आने वाले विषैले पदार्थ फिर से वापस जाने लगते हैं। इससे किडनी पर दोबारा प्रेशर पड़ता है।

बीपी कंट्रोल में ना रहना- बीपी हाई होने पर रक्त कोशिकाओं पर दबाव पड़ता है। इससे किडनी पर नकारात्मक असर पड़ता है। इसी वजह से बीपी को 

Back to top button
E-Paper