राजस्थान के नागौर में 5 बहनों के भाई की तालाब में डूबकर मौत, SDRF टीम ने रात भर चलाया सर्च अभियान

नागौर जिले के गांव मुगदड़ा में सोमवार देर रात एक युवक घर से लापता हो गया। उसके मोबाइल और चप्पल मंगलवार को गांव के तालाब किनारे मिले। गोताखोरों ने तालाब में युवक की तलाश शुरू की। अजमेर से आई SDRF टीम ने बुधवार सुबह शव को तालाब से बाहर निकाल लिया है। मृतक 5 बहनों का इकलौता भाई था। उसकी पिछले साल ही शादी हुई थी। पिता सरकारी टीचर हैं। 3 दिन पहले ही पटवारी भर्ती का एग्जाम देकर आया था और तब से ही परेशान चल रहा था।

मेड़ता पुलिस ने बताया कि मंगलवार सुबह सूचना मिली थी कि मनीष पुत्र रामदेव खुड़खुड़िया (24) निवासी मुगदड़ा रात ढाई बजे से घर से लापता है। मनीष की मोबाइल लोकेशन चेक की गई तो गांव के ही तालाब किनारे मिली। इस पर पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे। तालाब किनारे मनीष का मोबाइल और चप्पल मिले। अंदेशा हुआ कि वो तालाब में डूब गया हो। मेड़ता से मीरा तैराकी संघ और नागौर से गोताखोरों की टीम बुलवाकर तालाब में तलाश की गई। जब कुछ पता नहीं चला तो देर शाम अजमेर से SDRF टीम भी बुलाई गई।

SDRF टीम ने रात भर सर्च अभियान चलाया, बुधवार सुबह शव निकला बाहर
देर शाम तक युवक की खोज खबर नहीं मिलने और गोताखोरों के असफल हो जाने के बाद मौके पर पहुंचे रियांबड़ी SDM गौरीशंकर शर्मा ने अजमेर से SDRF टीम को बुलाया। SDRF टीम ने मौके पर पहुंचते ही तुरंत अपना सर्च अभियान शुरू कर दिया। रात भर चली सर्च से कोई सफलता नहीं मिली। आखिर बुधवार सुबह जल्दी ही SDRF टीम ने शव बाहर निकाल लिया। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण तालाब की पाल पर जमा हो गए।

Back to top button
E-Paper