राफेल के मुरीद हुए ‎प्रिंस सलमान, सऊदी अरब के ‎लिए खरीदेंगे लड़ाकू ‎विमान

रियाद (ईएमएस)। ‎प्रिंस सलमान सऊदी अरब के ‎लिए राफेल ‎विमान खरीदने वाले हैं। मी‎डिया में आई एक ‎रिपोर्ट पर ‎‎विश्वास करें तो लगभग 200 ‎विमान ख्ररीदने की योजना बन रही है। बता दें ‎कि सऊदी अरब ने उन्नत अमेरिकी और ब्रिटिश लड़ाकू विमानों से बनी एक विशाल वायु सेना के निर्माण में दशकों का समय बिताया है। लेकिन, बड़ी संख्या में फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल खरीदने में रियाद की रुचि एक संकेत हो सकती है कि उसे नहीं लगता कि उसके पुराने दोस्त पहले जितने विश्वसनीय हैं। फ्रांस के मी‎डिया ने अज्ञात स्रोत का हवाला देते हुए बताया कि सऊदी अरब 100 से 200 डसॉल्ट राफेल लड़ाकू विमानों को खरीदने पर विचार कर रहा है। यह रिपोर्ट ऐसे समय आई है, जिसमें बताया गया था कि रियाद अपने पारंपरिक विमान आपूर्तिकर्ता देशों से भविष्य में लड़ाकू विमानों की खरीद नहीं करेगा।

बता दें ‎कि पिछले साल अक्टूबर में प्रिंस सलमान के तेल उत्पादन में कटौती को लेकर गुस्से के कारण अमेरिकी सांसदों ने सभी अमेरिकी हथियारों की सऊदी अरब को बिक्री पर रोक लगाने वाले कानून का प्रस्ताव रखा। गनीमत रही कि यह प्रस्ताव पारित नहीं हो सका। अगर ऐसा हो जाता तो सऊदी अरब की पूरी वायु सेना जमीन पर आ जाती, क्योंकि उसके लड़ाकू विमानों के लिए आवश्यक पुर्जे और दूसरे साजो-सामान नहीं मिल पाते। जुलाई में जर्मनी ने घोषणा की कि वह सऊदी अरब को और अधिक यूरोफाइटर टाइफून बेचने की अनुमति नहीं देगा। सऊदी वायु सेना 72 यूरोफाइटर टाइफून विमानों का संचालन करती है। सऊदी अरब के पड़ोसी संयुक्त अरब अमीरात और कतर ने पहले ही पश्चिमी लड़ाकू विमानों की बदौलत बड़ी और ताकतवर वायु सेना का निर्माण कर चुके हैं। इनमें दोनों के पास दर्जनों राफेल लड़ाकू विमान भी हैं।

Back to top button