लखनऊ : लड़की को चौथी मंजिल से फेंकने के आरोपी सूफियान को पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़ा, पैर में गोली लगी

लखनऊ में लड़की को चौथी मंजिल से फेंकने के आरोपी सूफियान को पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़ा है। दुबग्गा इलाके में हुई मुठभेड़ में सूफियान के पैर में गोली लगी है। घायल सूफियान को KGMU के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। सुबह ही पुलिस कमिश्नर की ओर से सूफियान पर 25 हजार का इनाम घोषित हुआ था।

आरोपी सूफियान और उसका परिवार मंगलवार रात घटना के बाद से फरार था। शुक्रवार सुबह पुलिस को सूचना मिली कि सूफियान दुबग्गा क्षेत्र में है। मुखबिर की सूचना पर ACP काकोरी DK सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ने घेराबंदी की। पुलिस से घिरता देख सूफियान ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। इसी बीच पकड़ने के लिए पुलिस ने गोली चलाई। गोली सूफियान के पैर में लगी और वह वहीं गिर गया।

लड़की को प्रेमी ने फेंका, धर्म परिवर्तन का आरोप
लड़की के परिजनों ने कहा कि सूफियान उनकी बेटी पर धर्म बदलने का दबाव बना रहा था। परिवार ने पुलिस में जो शिकायत की है, उसके मुताबिक दुबग्गा में रहने वाली निधि गुप्ता (19) और सूफियान में प्रेम संबंध था। लड़की के परिजनों को जब इस बात का पता चला तो वे विरोध करने सूफियान के घर पहुंचे। लड़की के पिता रवि गुप्ता ने कहा- सूफियान ने निधि को 4 मंजिल से नीचे फेंक दिया। अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

हिंदूवादी संगठन के किया प्रदर्शन, फांसी की मांग
बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को लखनऊ में प्रदर्शन किया। हिंदूवादी संगठन के मुनेंद्र सिंह ने कहा कि निधि के हत्यारोपी सूफियान को फांसी की सजा दी जाए। बार-बार निधि को धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया गया। आरोपी ने निधि को छत से फेंककर हत्या की। निधि के परिवार वालों को जान का खतरा है। ऐसे में निधि के परिवार को सुरक्षा दी जाए।

परिजनों ने किया प्रदर्शन, आरोपी पर कार्रवाई की मांग
निधि के शव का 3 डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमॉर्टम किया। इसकी वीडियोग्राफी भी कराई गई। बिसरा सुरक्षित रखा गया। बुधवार दोपहर को निधि का शव डूडा कॉलोनी उसके आवास पर लाया गया। इस दौरान परिजनों और मोहल्ले वालों ने प्रदर्शन किया। उन्होंने आरोपी सूफियान और उसके परिजनों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

पिता बोले- बेटी का ब्रेनवॉश करता था सूफियान
पुलिस ने बताया कि घटना रविवार को लखनऊ के दुबग्गा इलाके में हुई। दुबग्गा के ब्लॉक 41 में रवि गुप्ता परिवार के साथ रहते हैं। ब्लॉक 40 में सूफियान और उसका परिवार रहता है।

रवि गुप्ता ने कहा, “सूफियान ने बेटी निधि को एक मोबाइल दिया था। सूफियान उसका ब्रेनवॉश कर रहा था। वो बेटी को इस्लाम अपनाने के लिए बरगला रहा था। हमने सूफियान के घरवालों से इसकी शिकायत की, मगर उसके परिवार ने कुछ भी सुनने से मना कर दिया। विवाद भी हुआ। इसी बीच निधि छत पर चली गई। उसके पीछे सूफियान भी भागता हुआ गया था।

इसके बाद हमें चीख सुनाई दी। हम लोग भागते हुए ऊपर छत पर पहुंचे। वहां सूफियान अकेला था। वह हमें धक्का देकर भाग गया। छत से नीचे झांकने पर हमें खून से लहूलुहान निधि जमीन पर तड़पती हुई दिखी। हम नीचे भागते हुए पहुंचे। निधि को अस्पताल ले गए, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

मां ने कहा- इन लोगों ने मेरी बेटी छीन ली
निधि की मां लक्ष्मी गुप्ता ने आरोप लगाया, “सूफियान निधि पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाता था। इनकार करने पर सूफियान ने उसे छत से फेंक दिया। इन लोगों ने मेरी बेटी छीन ली। निधि अपनी नानी के घर कुछ दिन पहले गई थी। वापस आने के बाद वो सूफियान से मिलती नहीं थी। सूफियान से बातचीत भी नहीं कर रही थी। इसी बात को लेकर सूफियान गुस्से में था।

वो हम लोगों से झगड़ा करता और जान से मारने की धमकी भी देता था। पहले भी दोनों परिवार के लोगों के बीच कहासुनी हो चुकी थी। मामला थाने तक पहुंचा था। उस वक्त पुलिस ने सूफियान के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की थी।”

Back to top button