शाकिब ने अमन बन कर युवती को फाँसा: फूटा भांडा तो गला रेत कर मार डाला

मेरठ. पिछले साल हुई छात्रा की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर आरोपी को गिरफ्ताार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक पंजाब के लुधियाना की बीकॉम छात्रा को मेरठ के शाकिब ने अमन बनकर प्रेमजाल में फंसाया था। छात्रा उसके झांसे में आकर घर से 25 लाख रुपये की ज्वैलरी लेकर फरार हो गई। मेरठ में आने के बाद शाकिब की सच्चाई सामने आई तो उसने छात्रा को जान से मार डाला। उसने छात्रा के उस हाथ को भी काट दिया जिस पर उसने उसका नाम गुदवाया था, ताकि उसकी सच्चाई बाहर न आ सके। 

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि 13 जून 2019 को लोईया गांव में सबी अहमद के खेत में पड़ोसी ईश्वर पंडित ने कुत्ते को इंसान का एक हाथ मुंह में लेकर भागते हुए देखा। जब गन्ने का खेत खुदवाया गया तो वहां से एक युवती की लाश बरामद हुई। उसका सिर और एक हाथ गायब था। युवती की पहचान नहीं हो पाई। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। 

एसएसपी ने बताया, हमने इस मामले में डिस्ट्रिक क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो और स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो में मिसिंग मामले दिखवाए, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। पुलिस की एक टीम को इस काम में लगाया गया कि लोईया गांव के कौन-कौन लड़के बाहर काम करते हैं। वे जहां-जहां काम करते थे, वहां-वहां के थानों में मिसिंग केस दिखवाए गए। आखिरकार पंजाब में जाकर पुलिस को सफलता मिली। एसएसपी ने कहा, एक साल की मेहनत के बाद पुलिस आखिर उस युवती तक पहुंच गई जो लापता थी। 23 वर्षीय युवती की पहचान लुधियाना में मोतीनगर थाना क्षेत्र निवासी के रूप में हुई।

शाकिब के मेरठ आने के बाद उसकी असलियत समाने आ गई
एसएसपी के अनुसार, युवती बीकॉम की छात्रा थी। मेरठ के लोईया गांव का शाकिब वहां पर नौकरी करता था। उसने वहां अपना नाम अमन बता रखा था। शाकिब उर्फ अमन ने युवती को प्रेमजाल में फंसा लिया। मई में दोनों लुधियाना से फरार हो गए। युवती अपने साथ करीब 25 लाख रुपए की ज्वैलरी ले आई। दोनों करीब एक महीना तक दौराला में किराए के मकान में रहे। पिछले साल ईद वाले दिन शाकिब उसे अपने घर लेकर पहुंचा। यहां छात्रा को पता चला कि वह अमन नहीं शाकिब है।

ईद वाले दिन नशीला कोल्ड ड्रिंक पिलाकर गला रेता
भांडा फूटते ही दोनों में लड़ाई शुरू हो गई। शाकिब उर्फ अमन उसे घुमाने के लिए घर से बाहर ले आया। ईद वाली रात के 9 बजे उसने कोल्डड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर छात्रा को पिला दी। वह बेहोश हो गई। इसके बाद खेत पर लेकर पहुंचा और गला काटकर हत्या कर दी। पहचान छिपाने के लिए उसने सिर और हाथ को कहीं और फेंक दिया। पुलिस मान रही है कि इस वारदात में कई अन्य युवक भी शामिल हो सकते हैं। फिलहाल मुख्य हत्यारोपी शाकिब गिरफ्तार है। उसके परिवार से जुड़े तीन-चार युवकों से पूछताछ चल रही है।

आरोपी ने पुलिस हिरासत से भागने का प्रयास किया 
प्रेसवार्ता के बाद पुलिस शाकिब और अन्य  लोगों को  लेकर मेडिकल जांच के ​लिए अस्पताल लेकर जा रही थी। तभी रास्ते में शाकिब ने एक सिपाही की ​पिस्टल छीनकर गोली चला दी । गोली लगने से सिपाही घायल हो गया। पिस्टल लेकर भाग रहे शाकिब को पुलिस ने घेराबंदी कर भराला गांव के जंगल में घेर लिया, जहां मुठभेड़ में उसके पैर में पुलिस की  तीन गोली  लगी। घायल शाकिब को लेकर पुलिस जिला अस्पताल पहुंची जहां उसकी इलाज किया गया। पुलिस का कहना है कि हत्या के आरोप में गिरफ्तार सभी छह आरोपियों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

बेटी के हत्यारों को समाने देख मां ने जड़े कई थप्पड़

प्रेस कांफ्रेस के दौरान ही बेटी के हत्यारों को सामने देखकर मां का गुस्सा फूट पड़ा। बेटी के हत्यारे को जमकर थप्पड़ मारे और हत्या में शामिल रही युवक के परिवार की एक महिला से पूछा कि बेटी के कपड़े उतारते हुए शर्म नहीं आई। प्रेसवार्ता के दौरान इस महिला को भी छात्रा की मां ने कई थप्पड़ जड़े। वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने किसी तरह परिजन को अलग कर शांत ​किया।

Back to top button
E-Paper