सरकार की ये योजना किसानों को दे रही 36000 रुपये सालाना, बिना कुछ खर्च किये ऐसे पाएं लाभ…

केंद्र की मोदी सरकार किसानों के लिए एक से बढ़कर एक कई योजनाएं ला चुकी है. सरकार किसानों को हर तरह से मदद करने के लिए तत्पर रहती है. मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना लाकर अंनदाताओं के जीवन में खुशियां भर दी हैं. ये सरकार किसानों के लिए तीन नए कृषि कानून लेकर आई है, जिनका कुछ किसान संगठन समेत विपक्षी दल विरोध कर रहे हैं लेकिन देश के असली किसान जानते हैं कि नए कानूनों में उनकी भलाई ही छुपी है. इसीलिए वे इन कानूनों का समर्थन कर रहे हैं. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अलावा एक और ऐसी योजना है जो किसानों को सालाना 36000 रूपये दे रही है. इस योजना में आपको कुछ भी खर्च नहीं करना है. अगर आप किसान हैं तो ये खबर आपके काम की है. तो आइए हम आपको विस्तार से बताते हैं कि इस योजना का आप कैसे लाभ उठा सकते हैं. 

हम जिस योजना की बात कर रहे हैं उसका लाभ उन सारे किसानों को मिल सकता है, जो पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहे हैं. इस योजना का नाम हैं पीएम किसान मानधन योजना. बता दें पीएम किसान से अब तक 11 करोड़ 71 लाख लोग जुड़ चुके हैं. पीएम किसान के लाभार्थियों को केंद्र सरकार किसान क्रेडिट कार्ड और पीएम किसान मानधन योजना का भी लाभ दे रही है. मानधन योजना के लिए कोई दस्तावेज नहीं देना होगा. वहीं इससे जुड़कर आप जेब से बिना खर्च किए 36000 सलाना पाने के हकदार हो जाएंगे. अब आपको बताते हैं कि ये पैसे आपको मिलेंगे कैसे.

बता दें कि पीएम किसान मानधन योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानों को हर महीने पेंशन देने की योजना है, जिसमें 60 साल की उम्र के बाद हर महीने 3000 रुपये यानी 36000 रुपये सालाना पेंशन दी जाती है. यदि कोई किसान पीएम-किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहा है तो उसे पीएम किसान मानधन योजना के लिए कोई दस्तावेज नहीं देना होगा, क्योंकि ऐसे किसान के पूरे दस्तावेज भारत सरकार के पास हैं. 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम से प्राप्‍त लाभ में से सीधे ही अंशदान करने का विकल्‍प चुनने की छूट है. इस तरह किसान को सीधे अपनी जेब से पैसा नहीं खर्च करना पड़ेगा, 6000 रुपये में से उसका प्रीमियम कट जाएगा. यानी जेब से बिना खर्च किए किसान को 36000 सालाना भी मिलेगा और अलग से कुछ किस्त भी. वैसे अगर पीएम किसान सम्मान निधि के लाभार्थी नहीं हैं तब भी इस योजना का फायदा उठा सकते हैंय

बता दें कि किसान मानधन योजना के तहत 18 से 40 वर्ष तक की आयु वाला कोई भी किसान इसमें रजिस्ट्रेशन करा सकता है. हालांकि, वहीं किसान इस योजना का फायदा उठा सकते हैं, जिनके पास अधिकतम 2 हेक्टेयर तक ही खेती योग्य जमीन है. इन्हें योजना के तहत कम से कम 20 साल और अधिकतम 40 साल तक 55 रुपये से 200 रुपये तक मासिक अंशदान करना होगा, जो किसान की उम्र पर निर्भर है. अगर 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो मासिक अंशदान 55 रुपये हर महीने होगा. वहीं अगर 30 साल की उम्र में इस योजना से जुड़ते हैं तो 110 रुपये हर महीने अंशदान करना होगा. इसी तरह अगर आप 40 की उम्र में जुड़ते हैं तो 200 रुपये महीना योगदान करना होगा.

Back to top button
E-Paper