हिमाचल प्रदेश गए हो तो वहां की ये 9 चीज़ें खाए बिना मत लौटना

हिमाचल प्रदेश. भारत के मानचित्र पर मौजूद एक ऐसा राज्य, जिसको नज़दीक से देखने की चाहत हर किसी के अंदर होती है. ऊंचे-ऊंचे पहाड़, प्राकृतिक सुंदरता से पटे मैदानों के साथ-साथ वहां के व्यंजनों का स्वाद खासा लोकप्रिय है. लिहाज़ा आज हम आपके लिए हिमाचल में मौजूद कुछ ख़ास व्यजंनों की लिस्ट लेकर आए हैं, जो आपकी छुट्टियों को शानदार बना सकते हैं.

1. धाम (Dhaam)

धाम स्वादिष्ट व्यंजनों से भरी एक थाली है. इसमें आपको दाल, राजमा, चावल, दही, आदि के चखने को मिल जाएंगे. गुड़ इस पकवान में चार चांद लगा देता है. त्योहार और ख़ास मौके इसके बिना अधूरे माने जाते हैं. इसका प्रचलन मनाली और चंबा में ज़्यादा देखने को मिलता है और इसे हिमाचल प्रदेश का मुख्य भोजन भी कहते हैं.

2. तुड़किया भात (Tudkiya Bhat)

ये हिमाचल की प्रसिद्ध रेसिपी है और कभी भी अगर हिमाचल प्रदेश के  खान पान की बात आती हैं  तो तुड़किया भात का नाम सबसे पहले आता हैं. चंबा ज़िले में इसे आप आसानी से देख सकते हैं. इसको चावल, मसूर दाल, मटर, आलू, टमाटर, इलायची, दाल चीनी आदि के मिश्रण से तैयार किया जाता है. इसे ख़ासतौर पर देशी घी के साथ परोसा जाता है. इसका स्वाद चख चुके लोग बताते हैं, चंबा में इससे अच्छा कोई दूसरा व्यजंन नहीं.

3. माद्रा (Madra) 

हिमाचल प्रदेश के चंबा और कांगड़ा ज़िले में आपको यह पकवान आसानी से मिल जाएगा. इस पकवान को मुख्यत:भिगोए हुए छोले या चने का प्रयोग किया जाता है. इसको तेल में अच्छी तरह पकाया जाता है. लौंग, दालचीनी, इलायची, जीरा, धनिया पाउडर और हल्दी पाउडर जैसे विभिन्न मसाले इस व्यंजन का स्वाद बढ़ाते हैं. 

4. सिद्धू (Siddu)

सिद्दू ज्यादातर मंडी, कुल्लू, मनाली, और शिमला में सबसे ज़्यादा पसंद किया जाने वाला व्यंजन है. यह गेहूं के आटे से बनी एक तरह की रोटी है. इसे बनाने के लिए गेहूं व खमीर के मिश्रण का प्रयोग किया जाता है. खमीर के साथ गेहूं को गूंधने के बाद, आटे को कम से कम 4 से 5 घंटे तक छोड़ दिया जाता है. आम तौर पर, इसे देसी घी दाल और चटनी के साथ परोसा जाता है. 

5. भेय (Bhey)

यह एक ऐसी रेसिपी है, जिसका स्वाद आप हिमाचल के किसी भी कोने में ले सकते हैं. वहां के लोगों के घरों में यह जमकर खाया जाता है. इसे Lotus के तने से तैयार किया जाता है. बनाने से पहले Lotus के तने को पतला-पतला काटा जाता है. फिर इसे अदरक-लहसुन, प्याज़ और बेसन में पकाया जाता है. यह डिश थोड़ी सी Spicy होती है.

6. छा गोश्त (Chha Gosht)

यह हिमाचल की एक बहुत ही स्वादिष्ट मटन करी है. इसे बेसन और दही की ग्रेवी में पकाया जाता है. इस व्यंजन का स्वाद तब बहुत बढ़ जाता है, जब इसे इलायची लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर, तेज पत्ता, हींग और अदरक-लहसुन का पेस्ट के साथ तैयार किया जाता है. कुल्लू के स्थानीय ढाबे की मेनू लिस्ट में आपको इसका नाम मिल जाएगा.

7. बबरू (Babru)

बबरू हिमाचल के सभी शुभ अवसरों पर तैयार की जाने वाली महत्पूर्ण मिठाई है. चीनी का इस्तेमाल कर इसे सांचे पर डिज़ाईन बना कर पकाया जाता है. गेहूं का आटा, सरसों तेल या रिफाइंड तेल, चीनी, दूध एक गिलास, बेकिंग पाऊडर इसे डिश में प्रयोग होने वाली खास चीजें हैं. अगर आप शिमला में हैं, तो इसे आप अपनी थाली का हिस्सा बना सकते हैं.

8. खट्टा (Khatta)

मद्रा की तरह यह एक हिमाचल की एक अन्य पारंपरिक पहाड़ी डिश है, जो स्वाद में खट्टी होती है. आमतौर पर इसे चावल के साथ परोसा जाता है. कांगड़ा ज़िले में यह ख़ासी लोकप्रिय है.

9. तिब्बती व्यंजन (The Tibetan dishes)

तिब्बती व्यंजनों को शामिल किए बिना हिमाचल प्रदेश की भोजन की बात पूरी नहीं की जा सकती. हिमाचल प्रदेश के कई क्षेत्रीय भोजन तिब्बती संस्कृति से प्रेरित हैं.

वहां के मैकलोडगंज और धर्मशाला में इसकी झलक देखी जा सकती है. मोमोज़, थुकपा, तिंगमो, लुचिओपोटी, थेंटुक जैसे व्यंजन इसके कुछ बड़े उदाहरण हैं.

Back to top button
E-Paper