यूपी : नेशनल हाइवे बना यात्रियों के लिए काल, दो बसों की टक्कर में 11 लोगो की दर्दनाक मौत

राजीव शर्मा 

अलीगढ। सोमवार को भगवान श्री कष्ण के जन्मोत्सव की खुशी में रहे। मंगलवार की सुबह घर के बाहर खुशी से निकले। उसी दिन की दोपहर काल दिन साबित हुई। मडराक के पास दो बसें आपस में भिड गईं। इसमें ग्यारह की मौत हो गई और एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये। इस विभत्स घटना से अलीगढ और उसके आस पास के जिले के लोग सन्न रह गये।


हाथरस के पास सासनी बस स्टेंड से प्राइवेट बसें अलीगढ को जाती हैं। दोपहर को एक प्राइवेट बस सासनी से अलीगढ जा रही थी। अलीगढ से एक बडी बस बारात लेकर फिरोजाबाद जा रही थी। यह बारात अलीगढ के मोहल्ला अमेलिया के दानिश की थी।

अचानक मडराक के निकट यह दोनों बसें आमने सामने भिड गई। इस भिडंत से दोनों बसों में सवार लोग चीखने लगे और आपस में एक दूसरे पर गिरने लगे। गांव के लोगों ने इस घटना को देखा तो वह बचाव के लिये मौके पर आये औरन घायल को बाहर निकाला।

इस दौरान सौ नम्बर पर सूचना दी। पुलिस और एम्बूलेंस मौके पर आई। डाक्टर टीम ने मौके पर दो लोगों को मत घोषित कर दिया और करीब एक दर्जन घायलों को इलाज के लिये जिला अस्पताल और मेडिकल के लिये ले गए। इन घायलों में नौ ने और दम तोड दिया। इस विभत्स घटना में सात लोग घायल हो गए। मरने वालों में हाथरस जिला के कस्बा सासनी निवासी मोहल्ला दाउजी की कामिनी पत्नी डेविड भी हैं। इसके अलावा मरने वालों में बस चालक पवन निवासी नोहटी और अंजली पत्नी शिवकुमार नगला कैलार के अलावा अन्य सभी की शिनाख्त हो गई है। मुख्यमंत्री ने घटना पर दुख जताया है कि मरने वाले परिजनों को दो लाख रूपये देने की घोषणा की है।

हाइवे पर हुई दूसरी घटना

यह घटना नेशनल हाइवे 509 पर हुई है। एसी ही कुछ माह पहले इसी रोड पर हुई थी। जिसमें सात ही लोगों की मौत हुई थी। हाइवे अधिकारियों ने अभी इस मार्ग को दो लेन में ही बिछाया है। जबकि यहां से टोल भी वसूला जा रहा है। मार्ग के कम चौडीकरण की वजह से भी इस तरह की घटनाएं आये दिन होती रहती हैं।

Back to top button
E-Paper