वाजपेयी जी का अस्थि कलश 21 को लाया जायेगा लखनऊ…

लखनऊ . पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का अस्थि कलश अब 21 अगस्त को लखनऊ लाया जायेगा। इससे पहले इसे रविवार को लखनऊ लाने का कार्यक्रम था।

भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) प्रदेश महासचिव विजय बहादुर पाठक ने रविवार को यहा ‘यूनीवार्ता’ को बताया कि अटल जी के अस्थि कलश को दोपहर में यहां लाये जाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। अब उनका अस्थि कलश को 21 अगस्त को यहां लाया जायेगा। अस्थि कलश को लखनऊ लाने के बाद प्रदेश की विभिन्न नदियों में अस्थि विसर्जित किया जायेगा।

इससे पहले दिवगंत नेता के 18 अस्थि कलशों को नई दिल्ली से हवाई जहाज से रविवार को तीन बजे लखनऊ लाने का कार्यक्रम था। इस अवसर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हवाई अड्डे पर अस्थि कलशों के पहुचने के समय मौजूद रहने का कार्यक्रम था।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि अब अस्थि कलशों को सड़क मार्ग से यहां लाया जायेगा। रास्ते में जगह जगह पर लोग पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। भाजपा की योजना अस्थि कलशों को प्रदेश के विभिन्न जिलोें में भेजने की है। हर कलश के साथ सरकार के एक मंत्री और पार्टी के पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। जिलों में लोग श्री वाजपेयी को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।

यूपी में इन  नदियों में प्रवाहित की जाएंगी अस्थियां

सूत्रोें ने बताया कि अस्थि कलशों को प्रमुख नदियों गंगा, यमुना, सरयू, राप्ती, गोमती, मंदाकिनी में प्रवाहित करने के लिए इलाहाबाद, इटावा, अयोध्या, कानपुर, जौनपुर, मीरजापुर, इटावा, फर्रुखाबाद, फतेहगढ़, कन्नौज, गोरखपुर, बदायूं, चित्रकूट के साथ गढ़मुक्तेश्वर आदि जगह पर भेजा जाएगा। रास्ते में पडऩे वाले सभी जिलों में कलश को लोगों की श्रद्धांजलि देने के लिए रखा जाएगा। विसर्जन के समय स्थानीय जनता के साथ वहां के गणमान्य लोग और धर्मगुरु उपस्थित रहेंगे।
लखनऊ से स्वर्गीय वाजपेयी के खास रिश्तों के कारण 23 अगस्त को यहां झूलेलाल पार्क में सर्वदलीय श्रद्धांजलि सभा होगी। इसमें बड़े धर्माचार्य और अन्य गणमान्य लोग भी मौजूद रहेंगे। दिल्ली से भी कुछ केंद्रीय मंत्री आ सकते हैं। इसी दिन यहां गोमती में अस्थि कलश का विसर्जन होगा। इस अवसर पर अटलजी के परिवारीजन, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे।

राजनाथ और सीएम योगी भी होंगे शामिल:

बीजेपी प्रवक्ता आलोक अवस्थी ने बताया कि 23 अगस्त को लखनऊ में निकलने वाली अस्थि कलश यात्रा में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे। संभावना है कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी इस यात्रा में शामिल हो सकते हैं। अटलजी की अस्थियां गोमती नदी के झूलेलाल वाटिका से प्रवाहित की जाएगी। अनुमान है कि इस यात्रा में तकरीबन 70 हजार लोग शामिल हो सकते हैं। बीजेपी दफ्तर में अटलजी की अस्थियां अंतिम दर्शन लिए आम जनता के लिए सुलभ होंगी।

Back to top button
E-Paper