8 दिन उपवास रखने के बाद झाड़फूंक करने वाले पति ने पत्नी को उतारा मौत के घाट

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर जिले में एक पति ने नवरात्र में आठ दिनों तक उपवास रखने के बाद अपनी पत्नी की हत्या कर दी। पत्नी का शव पूजा वाले कमरे में पड़ा हुआ था। आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, हालांकि वह बार बार अपना बयान बदल रहा है ।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आशंका व्यक्त की जा रही है कि यह ‘नरबलि’ का मामला भी हो सकता है, चूंकि आरोपी झाड़फूंक का काम करता है और उसने नवरात्रि का उपवास भी रखा था। साथ ही शव उसके घर के पूजा वाले कमरे में मिला है।

पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है, पर बताया जा रहा है कि वह लगातार अपना बयान बदल रहा है। उसने पहले ग्रामीणों को बताया कि देर रात कुछ लोग उसके घर में घुसे थे। उन्होंने उसकी पत्नी की हत्या कर दी। कुछ देर बाद कहने लगा कि उसने बकरे को मारा है, खून की जांच कराई जा सकती है। पुलिस के पहुंचने पर पत्नी के चरित्र पर शक की बात कहने लगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मामले पर टीआई अनूर एक्का ने बताया कि आरोपी नवरात्र के व्रत रखकर पूजा-अर्चना कर रहा था। परिवार वालों ने बताया कि वह मृतका के साथ अक्सर मारपीट किया करता था। आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। वह चरित्र पर शक की बात कह रहा है। मृतका के शरीर पर करीब आधे दर्जन वार किए गए हैं।

इससे पहले सुबह जब आरोपी की बहू उठी तो उसे आरोपित ने बताया कि उसके सास की पूजा कमरे में लाश पड़ी है। इसकी सूचना मिलते ही उसने अपने पति को उठाया और पुलिस को गांव वालों ने सूचना दी। पुलिस ने आरोपित पति को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। उसने गांव वालों और पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल भी लिया है।

मामले को चरित्र सन्देह का एंगल देने की कोशिश कर रहे आरोपी ने पूजा कमरे में ही हत्या की थी। पूजा के आसपास करीब आधे दर्जन हथियार रखे हुए थे।

बताया जा रहा है कि आरोपी नवरात्र पर व्रत रखकर पूजा-अर्चना भी कर रहा था। परिवार वालों का कहना है कि वह मृतका से अक्सर मारपीट भी करता था।

Back to top button
E-Paper