अखिलेश का मंदिर राग कहा- राम और कृष्ण विष्णु के अवतार थे; इटावा में बनेगा भव्य “विष्णु मंदिर”

लखनउ. : अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले मंदिर राजनीति में कूदते हुए सपा मुखिया अखिलेश यादव ने बुधवार को ऐलान किया कि भगवान विष्णु का नगर विकसित किया जाएगा, जिसमें भव्य मंदिर होगा और यह मंदिर कंबोडिया के अंगकोरवाट मंदिर की ही तरह होगा।

अखिलेश ने मीडिया से कहा, ‘हम भगवान विष्णु के नाम पर लायर सफारी :इटावा: के निकट 2000 एकड से अधिक भूमि पर नगर विकसित करेंगे। हमारे पास चंबल के बीहडों में काफी भूमि है। नगर में भगवान विष्णु का भव्य मंदिर होगा। यह मंदिर कंबोडिया के अंगकोरवाट मंदिर की ही तरह होगा ।’ उनका यह बयान ऐसे समय आया है, जब उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने एक बार फिर राम मंदिर का मुद्दा छेड़ा है।

राम मंदिर मुद्दे पर सीधा जवाब देने से बचते हुए अखिलेश ने वादा किया कि अगर सत्ता में आये तो भगवान विष्णु का एक नगर निश्चित तौर पर विकसित किया जाएगा, जिनके अवतार भगवान राम और भगवान कृष्ण थे। अध्ययन के लिए विशेषज्ञों की टीम कंबोडिया भेजी जाएगी। भाजपा पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने इसे षडयंत्रकारियों की पार्टी बताया जो जमीनी स्तर पर कुछ नहीं करती है और वोट के लिए जनता को बेवकूफ बनाती है।

बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री रहने के दौरान अखिलेश यादव ने कैबिनेट की बैठक करके ऐलान कर दिया था कि राज्य सरकार अयोध्या में राम के ऊपर एक इंटरनेशनल थीम पार्क बनाएगी। उस थीम पार्क में रामायण से जुड़ी चीजों को एनिमेशन के जरिए दिखाया जाएगा साथ ही रामायण से संबंधित चित्र भी लगेंगे। यहां रामायण से जुड़ी कहानियों की फिल्में भी दिखाई जाएंगी।

Back to top button
E-Paper