शराब कांड के बाद मेरठ जोन में अलर्ट, ताबड़तोड़ छापेमारी

Image result for शराब कांड के बाद मेरठ जोन में अलर्ट

मेरठ, । सहारनपुर के जहरीली शराब कांड के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। मुख्यमंत्री की कड़ी नाराजगी के बाद मेरठ जोन में अलर्ट घोषित करके छापेमारी शुरू कर दी गई है। एडीजी ने इस कांड को लेकर अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने की बात कही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डीजीपी ओपी सिंह ने जहरीली शराब कांड को लेकर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद मेरठ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने सभी जिलों में अलर्ट जारी कर दिया है और अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं।

एडीजी की सख्ती के बाद मेरठ, बागपत, हापुड़, बुलंदशहर, गाजियाबाद, शामली, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर आदि जनपदों में आबकारी अधिकारियों ने ताबड़तोड़ छापेमारी अभियान चलाया। मेरठ में हस्तिनापुर में गंगा नदी के खादर में छापा मारकर अवैध शराब की भट्ठियां तोड़कर लहन नष्ट कर दिया गया। एडीजी ने सभी जनपदों के पुलिस कप्तानों से शराब माफिया की सूची बनाने, 2018 में उन पर की गई कार्रवाई का ब्यौरा मांगा है। शराब का अवैध कारोबार करने वालों पर गैंगस्टर लगाकर उनकी अवैध संपत्ति जब्त करने के निर्देश भी दिए गए हैं। पांच साल पहले गई थी पांच की जान सहारनपुर के साथ ही मेरठ में भी छह साल पहले जहरीली शराब पीने से पांच लोगों की जान चली गई थी।

यह घटना 29 मार्च 2013 में हुई थी। हस्तिनापुर की मनोहर काॅलोनी में जहरीली शराब पीने से पांच लोग मर गए थे। इस घटना के बाद भी अवैध शराब माफिया का कुछ नहीं बिगड़ा। मेरठ के एसएसपी-डीआईजी अखिलेश कुमार का कहना है कि मेरठ में पुलिस ने वर्ष 2018 में 1068 आरोपियों को अवैध शराब के कारोबार में जेल भेजा। इस दौरान 45 लाख लीटर अवैध शराब बरामद की गई। 25 शराब माफिया पर गैंगस्टर लगाई गई थी। जबकि दो शराब माफिया गणेश और शहजाद पाशा की अवैध लाखों रुपये संपत्ति जब्त की गई।

अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी। कई स्थानों पर बनती है अवैध शराब मेरठ जोन में मेरठ जनपद के बहसूमा, हस्तिनापुर, परीक्षितगढ़, किठौर, सरधना में अवैध शराब बनती है। मेरठ में शहरी क्षेत्र में टीपीनगर की कई काॅलोनियों में अवैध शराब बेरोकटोक बिक रही है। बागपत में छपरौली, बागपत, खेकड़ा आदि में अवैध शराब बनती है। हापुड़ जनपद के गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र में कच्ची शराब बनती है। मुजफ्फनगर और सहारनपुर के कई क्षेत्रों में धड़ल्ले से कच्ची शराब बनाई जाती है।

Back to top button
E-Paper