अलीगढ मासूम हत्या कांड : तीनो दरिंदे गिरफ्तार, वकीलों ने जल्लादों का केस लड़ने से किया इंकार

अलीगढ़ के टप्पल क्षेत्र में ढाई साल की मासूम बच्ची के साथ हुई बर्बरता और फिर हत्य की घटना के खिलाफ जहाँ पूरे देश में आक्रोश है वही  नोएडा में शुक्रवार की रात करीब 300 लोगों ने मार्च निकाला। उन्होंने गुनाहगारों को सार्वजनिक रूप से फांसी देने की मांग की है।  दरअसल, इस घटना को लेकर लोगों में बहुत आक्रेाश देखने हो मिला। सैकड़ों महिला-पुरुष और बच्चों के झुंड ने हाथ में मोमबत्ती लेकर आम्रपाली चौराहे से स्टेलर ग्रीन पार्क तक पैदल मार्च किया।

पुलिस की गिरफ्त में आया मेहंदी

पुलिस की गिरफ्त में आया मेहंदी

वही एक बड़ी खबर आ रही है की यूपी के अलीगढ में हुई ढाई साल की बच्‍ची की निर्मम हत्‍या के मामले में पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने इस मामले में तीसरे आरोपी मेंहदी हसन को गिरफ्तार कर लिया है। अलीगढ एसएसपी ने आरोपी की गिरफ्तार की पुष्टि कर दी है। इससे पहले पुलिस ने कल दो अन्‍य आरोपियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस के अनुसार आरोपी जाहिद एवं असलम ने जुर्म कबूल लिया है। दूसरी बारे अलीगढ़ सहित पूरे देश में इस हत्‍या को लेकर आक्रोश व्‍याप्‍त है।

वही अलीगढ़ के वकीलों ने आरोपियों की ओर से केस लड़ने से इंकार कर दिया है। अलीगढ़ बार एसोसिएशन के सचिव अनूप कौशिक ने बताया कि बार एसोसिएशन की मीटिंग में ये फैसला लिया गया है की कोई भी अधिवक्ता आरोपियों का केस नहीं लड़ेगा बल्कि उनको फांसी तक पहुँचाने का प्रयास कराया जाएगा।

तीसरा आरोपी गिरफ्तार-

मासूम की बेरहमी से हत्या करने के मामले में पुलिस ने तीसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम मेहंदी है। वह दूसरे आरोपी मोहम्मद जाहिद का भाई है। इससे पहले दो आरोपियों मोहम्मद जाहिद और मोहम्मद असलम को पुलिस ने गिरफ्तार कर चुकी है। सूत्रों के मुताबिक जब बच्ची की लाश मिली थी तो महेंदी मौके से फरार हो गया था। भागते समय मेहंदी ने कहा था कि जिसको जो करना है कर लो। इस पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन हो चुका है। मामले में पॉस्को एक्ट को भी शामिल किया गया है। इस मामले में अब तक पांच पुलिसकर्मियों को भी बर्खास्त किया जा चुका है।

Back to top button
E-Paper