अमर सिंह का बड़ा बयान, कहा- अखिलेश है ‘नमाजवादी पार्टी’ के अध्यक्ष और आजम को बताया ‘राक्षस’

Image result for अमर सिंह अखिलेश और आजम
अमर सिंह ने अपना एक वीडियो वायरल करते हुए आजम खान पर आरोप लगाते हुए कहा कि आजम ने अपने एक बयान में उन्हें काट देने और उनकी बेटियों पर तेजाब फेंकने की बात कही है, जिस पर अखिलेश यादव ने भी कोई आपत्ति नहीं जताई. इस बात से आक्रोशित अमर सिंह ने कहा कि वह अखिलेश और आजम ईंट से ईंट बजा देंगे. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष हैं और आजम खान राक्षस हैं. अमर सिंह ने सवाल उठाया कि अखिलेश यादव जब नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष हैं, तो विष्णुजी का मंदिर क्या बनवाएंगे.

मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव का बनाया हुआ राजनीतिक पुत्र आजम खान है.

उन्होंने जारी वीडियो में आजम पर हमला करते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव का बनाया हुआ राजनीतिक पुत्र आजम खान है. आजम खान ने बयान दिया है कि अमर सिंह जैसे लोगों को काटना चाहिए और उनकी जवान हो रही बेटियों पर तेजाब फेंकना चाहिए. इस पर पर भड़के अमर सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव बेटियां तुम्हारी भी हैं. उन्होंने अखिलेश यादव को कटघरे में खड़े करते हुए कहा कि अखिलेश तुम्हारे परिवार में झगड़े होते थे तो उसे अमर सिंह सुलझाता था और तुम्हारे परिवार का एक सदस्य भी मेरे जेल में रहने के समय मुझसे मिलने नहीं आया. तुम लोगों की वजह से जेल गया.
अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए अमर सिंह ने कहा कि तुम्हारा पैदा किया हुआ तैमूरलंग, अलाउद्दीन खिलजी, महमूद ग़ज़नवी की नस्ल और संस्कृति का राक्षस आजम खान हमारी बेटियों को तेजाब से नहलाने की बात करता है. हमें काटने की बात करता है. उत्तर प्रदेश और हिंदू समाज के लोगों को मैं कहूंगा कि इसके लिए अगर मुझे सांप्रदायिकता का तमगा भी मिले तो बेशक मिले. धर्मनिरपेक्षता का मतलब यह नहीं है कि अपने स्वाभिमान से समझौता करना और अगर धर्मनिरपेक्षता का मतलब अपने स्वाभिमान से समझौता करना है तो ऐसी धर्मनिरपेक्षता से मैं कान पकड़ता हूं.

 कलाम जैसे राष्ट्रभक्त मुसलमानों का मैं सम्मान करता हूं,

उन्होंने कहा कि कलाम जैसे राष्ट्रभक्त मुसलमानों का मैं सम्मान करता हूं, लेकिन अलाउद्दीन खिलजी, महमूद गजनवी की नस्ल और संस्कृति का मोहम्मद आजम खान राक्षस है. उन्होंने कहा कि यह वीडियो पूरे उत्तर प्रदेश के गांव-गांव और गलियों-गलियों में अगर नहीं दिखाया गया, तो मैं क्षत्रिय नहीं. उन्होंने कहा कि नमाजवादी पार्टी के राक्षस की बात का जवाब पत्थर से दूंगा, नहीं तो क्षत्रिय नहीं. सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि संभल कर रहना, बच के रहना तुम्हारी हर चुनौती का मुकाबला करने के लिए मैं तैयार हूं.
Back to top button
E-Paper