रामपुर में अमर सिंह के बिगड़े बोल कहा, ‘आ गया हूं, आओ आजम “मुझे बंद कर दो”

रामपुर : राज्‍यसभा सदस्‍य अमर सिंह ने गुरुवार को आजम खान के गढ़ रामपुर में ही उन पर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा कि आजम खान रहेंगे हिंदुस्तान में और गाएंगे पाकिस्तान की. उन्‍होंने आजम खान से सवाल किया कि वह बताएं कि आखिर मुजफ्फरनगर में दंगे क्‍यों हुए. आजम खान मुजफ्फरनगर के प्रभारी थे तो वहां दंगे क्‍यों हुए. उन्‍होंने कहा कि आजम खान के पास झूठ बोलने की डॉक्‍टरेट डिग्री है.

रामपुर पहुंचे अमर सिंह ने आजम खान को चैलेंज दिया और कहा- ‘आ गया हूं मैं. आओ आजम मुझे बंद कर दो.’

अमर सिंह ने आजम खान पर निशाना साधते हुए कहा ‘लगता है बकरीद की कुर्बानी से आजम खान का पेट नहीं भरा है. मेरी कुर्बानी से मेरी मासूम बच्चियों की जान बचती है तो मैैं कुर्बान होने के लिए तैयार हूं.’  उन्‍होंने कहा ‘जब ये बयान दे चुके हैं, दंगे अच्‍छी चीज नहीं होती है, हिन्दू का खून है ना मुसलमान का खून है, ये दुश्मन हिन्द ये इंसान का खून है.’

उन्‍होंने कहा कि मुजफ्फरनगर में जब आजादी के बाद हिन्दू की लाशें आ रही थी तो दंगे नहींं हुए थे. सर सैयद को भी भारत रत्न दिया जाए. आजम खान आपके लिए भारत माता डायन हैं, आपके लिए कश्मीर विवादित है.

‘खां साहब’ कहने पर अमर सिंह की प्रेस कांफ्रेंस में हंगामा

आजम खान को चुनौती देने गुरुवार को रामपुर पहुंचे अमर सिंह की प्रेस कांफ्रेंस में जमकर हंगामा हुआ. इस दौरान कुर्सियां फेंकी गईं, मेज तोड़ दी गईं. इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस को बीच में ही छोड़कर अमर सिंह को जाना पड़ा. दरअसल प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अमर सिंह ने अपनी बात रखनी शुरू की और आजम खान को खां साहब कहकर संबोधित करना शुरू किया.  इस दौरान वह पत्रकारों के बीच खड़े एक शख्स ने खां साहब कहने पर आपत्ति जताई.

इसके बाद अमर सिंह के समर्थक और उस शख्स के बीच तीखी नोंक झोंक शुरू हो गई. देखते ही देखते प्रेस कांफ्रेंस में अफरातफरी का माहौल हो गया. वहां कुछ लोगों ने मेज और कुर्सियां भी फेंकीं, जिसमें किसी के चोटिल होने की खबर नहीं है. बहरहाल, हंगामा बढ़ता देख अमर​ सिंह वहां से निकल गए.

बता दें सपा के कद्दावर नेता आजम खान का विवादित वीडियो सामने आने के बाद राज्यसभा सांसद अमर सिंह जहां उन पर हमलावर हैं. वहीं वे मुलायम सिंह और सपा मुखिया अखिलेश यादव से भी ख़ासा नाराज नजर आ रहे हैं. बुधवार को लखनऊ में अमर सिंह ने मुलायम सिंह को धृतराष्ट्र की संज्ञा देते हुए कहा कि मुलायम को अपने जीते जी सपा की सियासी शवयात्रा देखनी पड़ेगी.

प्रेस कांफ्रेंस हंगामे के दौरान तोड़ी गई मेज 

अमर सिंह ने कहा कि अखिलेश मेरी बेटियों को बहन मानते थे, लेकिन आजम के तेजाब से जलाने वाले बयान पर पिता-पुत्र चुप्पी साधे हुए हैं. बुधवार को राजधानी लखनऊ में एक हिंदी अख़बार से बातचीत में कहा कि जिस तरह कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी के लिए मणिशंकर अय्यर को पार्टी से निकाला था, उसी तरह अखिलेश को भी आजम खान को बाहर निकलना चाहिए था. लेकिन जो बेटा अपने बाप का नहीं हुआ वह मुंहबोली बहन का क्या होगा.

इससे पहले राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने आजम खान द्वारा दिये गए विविदित बयान को लेकर बीते मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आज़म खान और सपा नेताओं पर जमकर निशाना साधा था. अमर सिंह ने बुधवार को राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर उन्हें न सिर्फ आज़म खान द्वारा दिए गए विवादित बयान की जानकारी दी, बल्कि आज़म के ख़िलाफ़ कार्रवाई भी किए जाने की मांग की. इसके बाद अमर सिंह ने रामपुर जाकर आजम खान को चुनौती देने का ऐलान किया था.

Back to top button
E-Paper