बारह सूत्रीय मांगों को लेकर आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री यूनियन ने डीएम कार्यालय के बाहर जमकर की नारेबाजी

पौड़ी। पौड़ी में सीटू से संबद्ध आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री यूनियन ने सरकारी कर्मचारी का दर्जा दिए जाने समेत बारह सूत्रीय मांगों को लेकर धरना दिया। साथ ही चेतावनी दी कि सरकार ने उनकी मांगों पर जल्द सकारात्मक निर्णय नहीं लिया तो वे दो अगस्त से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार करेंगी।

जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठी आशा कार्यकत्रियों का कहना था कि लंबे समय से न्यूनतम वेतन 21 हजार करने, कोविड कार्य में लगी सभी आशा वर्करों को कोरोना ड्यूटी की शुरुआत से दस हजार रुपए मासिक कोरोना भत्ता भुगतान के साथ ही आशाओं के साथ अस्पतालों में सम्मानजनक व्यवहार करने समेत बारह सूत्रीय मांगों को लेकर सरकार से गुहार लगा रही हैं, लेकिन उनकी अभी तक कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है। पूर्व में इन मांगों को लेकर ब्लॉकों में प्रदर्शन कर ज्ञापन भेजा गया था, लेकिन कुछ नहीं हुआ। इससे आशाओं में खासा रोष है। साथ ही उनकी बारह सूत्रीय मांगों को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी भेजा।

इस दौरान बीना देवी, बसंती देवी, विजय लक्ष्मी, देवेश्वरी, मीना, कमला आदि शामिल थे।

Back to top button
E-Paper