Asian Games 2018: 16 साल के शूटर सौरभ ने दिलाया भारत को तीसरा

नई दिल्ली। एशियाई खेलों के जरिए अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी में पदार्पण करने जा रहे वकील अभिषेक वर्मा ने सभी को हैरान कर दिया।अभिषेक वर्म ने 10.7 पॉइंट का निशाना लगाया और वह और क्वालिफाईंग राउंड में दूसरे पर रहे। उन्होंने भारत के लिए ब्रॉन्ज जीता।

मंगलवार को खेले इस इवेंट में सौरभ ने 240.7 अंक हासिल करते हुए एशियन गेम्स का नया रिकॉर्ड भी बनाया। अभिषेक वर्मा ने 219.3 अंकों के साथ ब्रॉन्ज मेडल पर निशाना साधा। एयर पिस्टल निशानेबाज 29 बरस के वर्मा ने एक साक्षात्कार में कहा था कि , ‘मैं बहुत रोमांचित हूं और मुझे अच्छे प्रदर्शन का यकीन है।

‘ ‘मैं कुछ समय से तैयारियां कर रहा था और मैंने बहुत मेहनत की है। मुझे उम्मीद है कि पहली प्रतिस्पर्धा होने के बावजूद मैं अच्छा प्रदर्शन कर सकूंगा।’

सेवारत न्यायाधीश के बेटे अभिषेक ने कुरूक्षेत्र यूनिवर्सिटी से विधि में स्नातक किया है। उन्होंने पांचवें राष्ट्रीय चयन ट्रायल में अच्छे प्रदर्शन के जरिये टीम में जगह बनाई। उनके इस मेडल के साथ ही भारत ने के झोली में एक और पदक आ गिरा है।सौरभ चौधरी ने गोल्ड और अभिषेक वर्मा ने ब्रॉन्ज जीतकर भारत के कुल पदकों की संख्या सात कर दी है। जिसमें तीन गोल्ड, दो कांस्य और दो सिल्वर शामिल हैं।

सीएम योगी ने 50 लाख देने की घोषणा की

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सौरभ चौधरी को स्वर्ण पदक जीतने पर 50 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है. सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ने यह भी ऐलान किया है कि सौरभ को राज्य सरकार में राजपत्रित अधिकारी का पद दिया जाएगा.

सौरभ ने लगाया अचूक निशाना

मेरठ के कलीना गांव के रहने वाले अभिषेक ने 2015 में शूटिंग शुरू की. बचपन से ही उनका सपना था कि वो देश के लिए कुछ करें. साल 2018 में उन्हें मौका मिला. सौरभ ने जूनियर वर्ल्ड कप में तीन गोल्ड मेडल अपने नाम किये. फिर ओलंपिक के बाद  सबसे मुश्किल खेल माने जाने वाले एशियाड में उन्होंने वो कमाल कर दिखाया. जिसका सपना बड़े-बड़े शूटर देखते हैं. सौरभ बागपत के बिनौली के वीर शाहमल राइफल क्लब में कोच अमित श्योराणा की देखरेख में अभ्यास करते हैं. इसके अलावा मशहूर शूटर रहे जसपाल राणा ने भी उनके हुनर को निखारने में अहम भूमिका निभाई है.

 

Back to top button
E-Paper