विधानसभा अध्यक्ष ने जनपद में 105 गौशालाओं का किया लोकार्पण

अमित शुक्ला 
उन्नाव। जनपद के विकास भवन मे विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित द्वारा आज 105 गौशालाओं का लोकार्पण किया गया। बिधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश में पहला ऐसा जनपद है जहां पर इतनी बड़ी संख्या में गौशालाओं का शुभारंभ किया गया। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने बड़ी रुचि लेकर इस कार्य को अंजाम दिया है। प्राचीन काल में गायों का बहुत महत्व था। आज के आधुनिक युग में यह महत्ता कम
हो गई लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे समझा और आवारा जानवरों के लिए गौशालाओं का निर्माण कराकर गाय के महत्व को बढ़ावा दिया।
     इस अवसर पर माननीय अध्यक्ष को जिलाधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय द्वारा बताया गया कि जनपद उन्नाव में कुल 73 अस्थाई गोवंश आश्रय स्थल संचालित है जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में 72 व एक शहरी निजी गौशाला बनी हुई है। जिसमें कुल  4953 संरक्षित पशु हैं। जिलाधिकारी द्वारा यह भी बताया गया कि उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ द्वारा निर्माण कार्य
की प्रगति 80 प्रतिशत है जो 30 जून पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि ग्रामीण अभियंत्रण निर्माण प्रखंड उन्नाव द्वारा भूमि का चिन्हांकन कर लिया गया है। वृहद गौ संरक्षण केंद्र के नाम अभिलेख में दर्ज कराने की कार्यवाही चल रही है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रेम रंजन सिंह द्वारा बताया गया कि गोवंशों के खाने के लिए हर गौशाला में एक कमरा बनाया गया है। जिसमें भूसा रखने की व्यवस्था की गई है। जो जगह खाली है वहां पशुओं का चारा हेतु चरी आदि बो दी गई है।
      जनपद उन्नाव में निर्मित अस्थाई गोवंश आश्रय स्थल का लोकार्पणोंपरांत बिधानसभा अध्यक्ष द्वारा प्रधानों को प्रशस्ति पत्र वितरित किए गये। इस अवसर पर विधायक पुरवा अनिल सिंह, विधायक सफीपुर बंबालाल दिवाकर, विधायक सदर पंकज गुप्ता व बड़ी संख्या में ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य व सम्बंधित अधिकारी आदि उपस्थित रहे।
Back to top button
E-Paper