लखनऊ: गोमती नदी में आज विसर्जित होंगी भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री जी की अस्थियां

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से कई बार सांसद रह चुके दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां गुरुवार को यहां पहुंचेगी। आज ही उनकी अस्थियां गोमती नदी में विसर्जित की जाएंगी। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय और अटलजी के परिजन अस्थि कलश लेकर गुरुवार दोपहर तक विशेष विमान से लखनऊ आएंगे। अमौसी एयपोर्ट से झूलेलाल पार्क तक गोमती नदी के तट तक भाजपा कार्यकर्ता अस्थि कलश लेकर आएंगे। 

प्रदेश प्रवक्ता हीरो वाजपेयी ने बताया 
अस्थियां विसर्जन से पहले गोमती नदी के तट पर स्थित झूलेलाल पार्क में सर्वदलीय श्रद्घांजलि सभा का आयोजन रखा गया है। सभा में सभी दलों के नेता और पदाधिकारी अटलजी को श्रद्घासुमन अर्पित करेंगे। उसके बाद अस्थियां गोमती नदी में विसर्जित की जाएगी।

उप्र की नदियों में वाजपेयी की अस्थियों के विसर्जन की योजना तैयार

उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने 25 अगस्त तक राज्य की सभी नदियों में पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों के विसर्जन के लिए एक विस्तृत कार्यक्रम तैयार किया है।
भाजपा सूत्रों ने यहां बताया कि लखनऊ स्थित झूलेलाल पार्क में श्री वाजपेयी को गुरूवार को यहां श्रद्धांजति देने के बाद उनकी अस्थितयों का गोमती नदी के विसर्जन किया जायेगा। इस अवसर पर प्रदेश राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह मौजूद रहेंगे।
पूर्व प्रधानमंत्री की अस्थि कलशों को हवाई अड्डे से पुराने लखनऊ होते हुये एक फूलों से लदे एक ट्रक में झूलेलाल पार्क में लाया जायेगा जहां उन्हें श्रद्धांजलि दी जायेगी। इस अवसर पर स्वर्गीय वाजपेयी के परिवार के सदस्य मौजूद रहेंगे। लखनऊ पांच बार सांसद रहे श्री वाजपेयी की 16 अस्थि कलशो को राज्य मंत्रियों के नेतृत्व में प्रदेश की विभिन्न क्षेत्रों की नदियों में शुक्रवार की से सुबह से विसर्जन के लिये भेजा जायेगा। 
Atal Bihari Vajpayee ashes to be immersed in Lucknow's...- Khabar IndiaTV
श्री वाजपेयी की अस्थियों का कानपुर और फैजाबाद में शुक्रवार को विसर्जन किया जायेगा जबकि बाकी 14 स्थानों में शनिवार को विसर्जन किया जायेगा।
उन्होेने बताया कि फैजाबाद में, राज्य के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा सरयू नदी में विसर्जन के दौरान मौजूद रहेंगे जबकि कानपुर में गंगा नदी में बिथूर के पास विसर्जित किया जाएगा, जहां राज्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, सतीश महाना और मोहसिन रजा मौजूद रहेंगे।
गोरखपुर में, मुख्यमंत्री राप्ति नदी में विसर्जन के दौरान मौजूद रहेंगे। वाराणसी में गंगा में राज्य भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडे द्वारा किया जाएगा।
झांसी में केंद्रीय मंत्री उमा भारती और राज्य मंत्री स्वतंत्र देव सिंह बेटवा नदी में और चित्रकूट में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और राज्य मंत्री धर्मपाल सिंह द्वारा मंदाकिनी नदी में किया जाएगा।
इसी तरह मेरठ में राज्य मंत्री श्रीकांत शर्मा द्वारा गंगा नदी के मुक्तिेश्वर घाट पर उनकी अस्थियों का विसर्जन किया जायेगा। मुरादाबाद में केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा रामगंगा नदी में विसर्जन करेंगेे जबकि अलीगढ़ में गंगा नदि के सोरों में वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र, बरेली में यह केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार द्वारा रामगंगा नदी में तथा वरिष्ठ भाजपा नेता लक्ष्मी कांत बाजपेई द्वारा यमुना में सहारनपुर में विसर्जन किया जाएगा।
केन्द्रीय मंत्री मनोज सिन्हा श्री वाजपेयी की अस्थि कलश लेकर आज़मगढ़ जायेगे और तम्सा नदी में विसर्जन किया जायेगा। बस्ती में यह राज्य मंत्री जय प्रताप सिंह द्वारा क्वाना नदी में किया जाएगा, विंध्याचल क्षेत्र में गंगा में केंद्रीय मंत्री शिव प्रताप शुक्ला द्वारा किया जाएगा देवीपाटन में राज्य मंत्री सूर्य प्रताप साही द्वारा राप्ती नदी में किया जायेगा।
Back to top button
E-Paper