एटीएस ने शहर से एक बांग्लादेशी को किया गिरफ्तार

उन्नाव(भास्कर)। सोमवार को एटीएस ने शहर से एक रोहंगिया को गिरफ्त में लिया। उससे पास से एटीएस ने पांच लाख रुपये नकद और कई तरह के दस्तावेज़ों समेत फ्लाइट की टिकट भी मिली। पुलिस पूंछतांछ के लिए उसे लखनऊ ले गयी है।


शहर में सोमवार को एटीएस ने थाना कोतवाली पुलिस के साथ मिल अचलगंज थाना क्षेत्र के बंथर स्थित एक स्लॉटर हाउस से एक युवक को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार युवक साहिल मुहम्मद शहर के कासिम नगर में किराए पर मकान लेकर रह रहा था। बताया जा रहा है कि युवक म्यामांर का मूल निवासी है और शहर में अपनी बीवी व चार बच्चों के साथ रहता था।

पुलिस को सूचना मिली थी कि म्यामांर निवासी रोहिंग्याओ का एक गिरोह बांग्लादेशियों को बॉर्डर से अवैध रूप से भारत लाता है और संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त कार्यालय(यूएनएचसीआर) में उनका पंजीकरण कराकर देश के अलग अलग शहरों में उनके नाम बदल कर फर्जी पैन, आधार व पासपोर्ट बनवाता है और इस काम के लिए उनसे धन उगाही करता है। इसके साथ ही यह गिरोह देश विरोधी अन्य गतिविधियों में भी संलिप्त है। इसी क्रम में एटीएस की एक टीम ने अलीगढ़ से मो. फारुख को गिरफ्तार किया जिसका असली नाम हसन अहमद बताया जा रहा है हसन भी म्यांमार के अकियाब का रहने वाला है।

हसन ने ही पूंछतांछ में बताया कि उन्नाव में उसका भाई साहिल मुहम्मद नाम बदल शाहिद के नाम से रह रहा है। गिरफ्तार शाहिद से प्रारंभिक पूंछतांछ के आधार पर कासिम नगर में उसके घर पर छापा मारा जहां पुलिस को उसकी पत्नी के पास से 5 लाख रुपये, 8 पासपोर्ट, इंडिगो फ्लाइट की टिकट, बोर्डिंग पास समेत कई अन्य दस्तावेज मिले। शाहिद यहां मो. इदरीश के घर मे किराए पर रहता था। गिरफ्तार कर टीम उसे कोतवाली ले गयी।

Back to top button
E-Paper