औरैया : संदिग्ध परिस्थितियों में महिला कांस्टेबल का शव फांसी के फंदे से मिला लटका, लॉक डाउन के बीच में ही हुई थी शादी

बागपत की रहने वाली मृतक सिपाही महिला की लॉक डाउन के बीच में ही हुई थी शादी

औरैया । शादी के कुछ समय बाद ही आखिर एक महिला सिपाही फांसी का शव मंगलवार को फांसी के फंदे से लटका मिला। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस पहुची और शव को कब्जे में लिया। इस बीच ऐसा क्या कारण रहा कि महिला सिपाही को यह कदम उठाना पड़ा, इस घटना की गहनता से पुलिस जांच करने में जुटी गई है।

जनपद औरैया की कोतवाली बिधूना में आज देखने को मिला कि एक महिला सिपाही ने फांसी पर लटक कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मृतक महिला सिपाही बागपत निवासी शालू गिरी पुत्र राजेंद्र गिरी है जो इन दिनों जनपद औरैया में तैनात रहते हुए कोतवाली बिधूना में कार्यरत थी। वह बिधूना कस्बे में मोहल्ला किशोरगंज में एक मकान में किराए पर रहती थी। बताते हैं कि सोमवार की शाम वह अपनी ड्यूटी को पूरा कर अपने कमरे लौटी। इसके बाद उसने किस कारण से रात में फांसी पर लटक कर आत्महत्या कर ली, यह अभी तक स्पष्ट नहीं है।

फिलहाल आज जब काफी देर तक महिला सिपाही शालू का दरवाजा नहीं खुला तो इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दी गई। सूचना पाकर पहुंचे कोतवाल विनोद कुमार शुक्ला ने दरवाजा खोलकर देखा तो महिला कांस्टेबल शालू गिरी फांसी के फंदे पर झूल रही थी। कोतवाल द्वारा इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई। सूचना पाकर सीओ बिधूना मुकेश प्रताप सिंह भी पहुंच गए और जांच-पड़ताल में जुट गए।

पुलिस ने महिला सिपाही के शव को नीचे उतारकर पंचनामा भर शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। सीओ ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना के संबंध में उसके परिजनों व पति को सूचना दे दी गई है। बताते चलें कि मृतक महिला कांस्टेबल शालू गिरी का विवाह लॉक डाउन में अभी कुछ दिन पूर्व ही हुआ था। उसके फांसी लगाए जाने के पीछे क्या कारण हैं, इसकी पुलिस जांच कर रही है।

Back to top button
E-Paper