बहराइच : इलाज पूर्ण कर स्वस्थ हो चुके क्षय रोगी बनेंगे चैंपियन

बहराइच l राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत इलाज पूर्ण कर स्वस्थ हो चुके क्षय रोगी बतौर चैंपियन कार्य करेंगे। इसके लिए जनपद के समस्त हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर दो टीबी चैंपियन, एक पुरुष और एक महिला का चयन किया जाना है। भारत सरकार द्वारा प्राप्त निर्देशों के क्रम में सभी चैंपियन को प्रतिमाह अधिकतम 8000 रुपए की प्रोत्साहन राशि अलग-अलग गतिविधियों के लिए दिये जाने का प्रावधान किया गया है । इसके लिए चैंपियन की शैक्षिक योग्यता कम से कम 10 वीं और आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए । यह जानकारी जिला क्षय रोग अधिकारी डा0 एम एल वर्मा ने दी।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2025 तक टीबी मुक्त ग्राम पंचायत के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जनपद के समस्त ब्लाकों के सक्रिय कुल 235 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में प्रत्येक पर एक महिला और एक पुरुष का बतौर टीबी चैंपियन चयन किया जाना है। ये सभी चैंपियन टीबी ग्रस्त लोगों को खोजने और प्रदान की जाने वाली स्वास्थ्य सेवाएं जैसे जांच और सम्पूर्ण इलाज में टीबी रोगियों की सहायता करेंगे।

इसके अलावा समुदाय में टीबी के लक्षणों के बारे में लोगों को जागरुक और परिवार के सदस्यों को इस बात के लिए राजी करेंगे कि वे लक्षण वाले व्यक्तियों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर जांच और उपचार के लिए अवश्य भेजें । साथ ही सभी चैंपियन परिवार के सदस्यों को इस बात के लिए राजी करेंगे कि वे टीबी मरीजों के सम्पूर्ण इलाज में सहायता करें ताकि बीच में इलाज बंद न हो। उन्होंने बताया कि समुदाय स्तर पर टीबी मरीजों को गोद लेने के लिए सक्षम लोगों को प्रोत्साहित करने में भी टीबी चैंपियन मदद करेंगे।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 सतीश कुमार सिंह  ने बताया कि टीबी चैंपियन का चयन निर्धारित योग्यता और वरीयता क्रम के अनुसार किया जायेगा ।  इसके लिए इच्छुक व्यक्ति अपना आवेदन जिला क्षय रोग नियंत्रण केंद्र में 30 सितंबर 2023 तक दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि आवेदन और चयन प्रक्रिया पूर्णतः निःशुल्क है । कोई भी व्यक्ति बहकावे में आकर किसी को भी किसी प्रकार की धनराशि न दे।

Back to top button