बहराइच : भैस चराने गए दो लोगों की नदी में डूबने से हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

दैनिक भास्कर ब्यूरो

बहराइच। जरवल में रक्षाबंधन के दिन भैस चराने गए दो लोगों की नदी में डूबने से मौत हो गई।सूचना मिलने पर परिजनों में कोहराम मच गया। गोताखोरों की मदद से डूबे लोगों शव बरामद कर पीएम के लिए भेज दिया गया है।जरवलरोड थानाक्षेत्र के ग्राम पंचायत अहाता निवासी संजय (15)पुत्र जगतराम गौतम और नासिरगंज निवासी धनीराम (40) पुत्र बदलू दोपहर करीब दो बजे जरवल के बरोलिया घाट पर भैंस लेकर घाघरा नदी को पार कर उस पार जा रहे थे।नदी पार करते समय संजय घाघरा की लहरों में डूबने लगा।संजय को डूबता देख धनीराम बचाने दौडे और संजय का हाथ पकड़ कर खींचने लगें।

गोताखोरों की मदद से देर शाम को दोनो शव बरामद

पानी अधिक होने के कारण दोनों घाघरा की गहराई में डूब गए। सूचना पर जरवल चौकी इंचार्ज अवधेश कुमार द्विवेदी पुलिस बल के साथ मौके पहुंचे।स्थानीय गोताखोरों की मदद से दोनों की तलाश तलाश शुरू करवा दी है। देर शाम तक नदी में डूबे संजय और धनीराम का शव गोताखोरों की मदद से बरामद कर लिया गया। जरवल चौकी इंचार्ज अवधेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि दोनों शव का पंचनामा कराकर पीएम के लिए भेजा जा रहा है।

पहले भी हो चुके है आठ आठ हादसे

जरवल।प्रयत्क्षदर्शियो की माने तो प्रत्येक वर्ष घाघरा के ठोकर नम्बर दो के एक किलोमीटर की परिधि मे यहां कोई न कोई डूब जाता है अब तक आठ लोगो की यहां जल समाधि बन चुकी है न जाने घाघरा मैया क्यों नाराज है।

Back to top button