बकरीद पर बकरे के साथ कोई सेल्फी नहीं, CM योगी का जारी हुआ फरमान…

Related image

यूपी  के CM योगी ने फरमान जारी करते हुआ कहा है  बकरीद के मौके पर राज्य में खुले में किसी भी जानवर की बलि देने की अनुमति नहीं है। जो इस निर्देशों का पालन नहीं करेगा उसपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

लखनऊ : पूरे देश में बड़े धूम-धाम से बकरीद का पर्व मनाया जा रहा है। इस मौके पर UP के CM योगी आदित्यनाथ ने पुलिस प्रशासन को आवश्यक निर्देश जारी किए हैं। योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस मौके पर राज्य में कहीं भी खुले में पशु वध नहीं किया जाएगा। इसके अलावा पशु वध के पहले और बाद में सेल्फी लेना भी वर्जित होगा। जिला मजिस्ट्रेट के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए योगी आदित्यनाथ ने पुलिस और प्रशासन को निर्देश जारी करते हुए कहा कि वे इस बात को सुनिश्चित करें कि जो कोई भी इन निर्देशों का अनुपालन नहीं करता हुआ पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सीएम ने कहा कि पशु वध के बाद बहने वाला खून आस-पास के नालियों में नहीं बहाया जाएगा। अगर कोई ऐसा करता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ कड़े एक्शन लिए जाएंगे।

गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों में ये ट्रेंड स्थापित हो गया है कि बकरीद के मौके पर पशु वध के पहले और बाद में उनके साथ सेल्फी लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया जाता रहा है। कुछ लोग तो खून से सने जानवरों के साथ भी तस्वीरें सोशल मीडिया पर अपलोड करते थे जिसकी लोगों ने खूब आलोचना भी की है।

लखनऊ की राबिया नाईक ने इस मौके पर कहा कि वह सभी निर्देशों का पालन करेगी। धर्म हमें दूसरों की आस्था और विश्वास का सम्मान करना सिखाता है। हम इस बात का ध्यान रखेंगे कि हमारे त्यौहार से दूसरे समुदाय की भावनाएं आहत ना हों।

मुख्यमंत्री ने प्रशासन से राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। पुलिस को यह भी निर्देश दिया गया है कि सुरक्षित जानवरों की कुर्बानी ना दी जाए।

बता दें कि बकरीद और ईद अल-अदहा कुर्बानी का त्यौहार है। ईद अल-अदहा इस्लाम के दूत कहे जाने वाले इब्राहिम के संदेश की बात करता है। कहा जाता है कि इस दिन इब्राहिम ने अपने अल्लाह का कहा मानते हुए अपने ही बेटे की बलि दी थी। इसी प्रथा का अनुपालन करते हुए इस्लाम धर्म के लोग किसी जानवर की बलि देकर इस दिन को मनाते हैं।

 

 

Back to top button
E-Paper