बाराबंकी : एक बार हुई मृत्यु दो बार बनाए जाते हैं मृत्यु प्रमाण पत्र

सिद्धौर बाराबंकी। जालसाजी कर बैनामा कराई गई भूमि आहत पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है मामला विकास खंण्ड सिद्धौर क्षेत्र की ग्राम पंचायत बिबियापुर घाट गांव में एक व्यक्ति की मौत होने के बाद दो बार मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने का मामला प्रकाश में आया है ग्राम पंचायत सचिव ने सहायक विकास अधिकारी से शिकायत कर जांच कराने की मांग की है वहीं 8 जून ग्राम पंचायत बिबियापुर घाट निवासी कन्हैया लाल पुत्र राम दुलारे की मौत लगभग 1 वर्ष पूर्व हो गई थी उसका भतीजा इंदल बाहर गैर प्रांत में मजदूरी करने चला गया था तभी सेमरी निवासी बैजनाथ ने मृतक कन्हैया लाल का मृत्यु प्रमाण पत्र 5 मार्च 2022 को जारी कर दिया गया। जब भतीजा इंदल बाहर से वापस आया तो उसने भी मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया उसको भी मृत्यु प्रमाण पत्र ब्लॉक प्रशासन द्वारा जारी किया गया दोबारा मृतक का भतीजा इंदल कुमार ने मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया तो 11 मई 2022 को भी मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया।

ग्राम पंचायत सचिव पुनीत कुमार ने मंगलवार को सहायक विकास अधिकारी राम प्रकाश सिंह से शिकायत कर बताया कि उनके द्वारा जारी मृत्यु प्रमाण पत्र जिसमें 11मई 2022 को जारी किया है जबकि फर्जी तरीके से बनाया गया मृत्यु प्रमाण पत्र में 5 मार्च 2022 को जारी किया गया है ग्राम पंचायत बिबियापुर घाट का जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने का पासवर्ड और आईडी मुझे 22 मार्च को मिला था यह प्रमाण पत्र फर्जी तरीके से 5 मार्च को पहले ही किसी जन सेवा केंद्र से जारी किया गया जिस समय यह मृत्यु प्रमाण पत्र फर्जी तरीके से जारी किया गया।मृतक कन्हैयालाल पुत्र राम दुलारे का मेरे द्वारा 5 मार्च को कोई भी मृत्यु प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया। कहां से बना है इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है। न ही मेरे द्वारा जारी किया गया।

इसकी जांच करा कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है इस संबंध में सहायक विकास अधिकारी राम प्रकाश सिंह से जब बात की गई तो उन्होंने बताया यह प्रकरण मेरे संज्ञान में है जांच की जा रही है।

Back to top button