AUDIO : भोजपुरी स्टार निरहुआ की पत्रकार को धमकी कहा घर में घुस कर मारूंगा और कर दूंगा..

भोजपुरी स्टार निरहुआ ने दी पत्रकार शशिकांत सिंह को जान से मारने की धमकी !

मुंबई: कॅामेडियन कपिल शर्मा के बाद एक और सेलीब्रिटी के आपा खोने की खबर मिली है… कपिल ने जहां पत्रकार विकी लालवानी के साथ गाली-गलौच की थी, वहीं इस बार भोजपुरी फिल्मों के स्वघोषित सुपर स्टार दिनेशलाल यादव ‘निरहुआ’ ने पत्रकार शशिकांत सिंह को न सिर्फ गालियां दी हैं, अपितु मुंबई पहुंचते ही उन्हें टुकड़ा-टुकड़ा काटने और घर में घुस कर जान से मारने की धमकी दी है !
आपको बता दें कि शशिकांत सिंह एक जुझारू पत्रकार तो हैं ही, ‘चैंबर आफ फिल्म जर्नलिस्ट’ (सीएफजे) के सदस्य होने के अलावा सोशल मीडिया में भी काफी सक्रिय हैं। इस नाते निरहुआ की हालिया प्रदर्शित फिल्म ‘बॅार्डर’ के बारे में जब प्रचारित किया जा रहा था कि इस फिल्म ने सलमान खान की फिल्म ‘रेस-3’ को पछाड़ दिया है, तब शशिकांत सिंह ने पत्रकारिता धर्म का पालन करते हुए फेसबुक के अपने पेज पर ‘बॅार्डर’ का पूरा आंकड़ा प्रस्तुत कर दिया

बस, इसी सच से खिसियाये निरहुआ ने शशिकांत सिंह को आज 18 जून की सुबह लगभग साढ़े ग्यारह बजे फोन कर के जमकर गालियां दी हैं, साथ ही मुंबई आकर उनका टुकड़ा-टुकड़ा करने और घर में घुस कर जान से मारने की धमकी भी दी है ! हालांकि शशिकांत सिंह ने इस दौरान निरहुआ को समझाने की बहुत कोशिश की कि आप अपना पक्ष रखिए, मैं उसे भी सार्वजनिक कर दूंगा। लेकिन निरहुआ ने तो मानो तय कर लिया था कि वह उनकी एक नहीं सुनेंगे ! यही नहीं, शशिकांत सिंह ने निरहुआ को बातचीत की शुरुआत में ही आगाह कर दिया था कि मोबाइल में रिकॅार्डिंग हो रही है, मगर इसी बात को जब उन्होंने दोहराने का प्रयास किया तो निरहुआ ने बद्तमीजी करने की सारी हदें पार कर दी.

bhojpuri nirahua

निरहुआ और शशिकांत सिंह के बीच हुई बातचीत का आडियो आप भी सुन सकते हैं 
इस घटना से आहत शशिकांत सिंह से संपर्क करने पर पता चला कि वह निरहुआ के खिलाफ उन्होंने तुलिंज पुलिस स्टेशन में आज शिकायत की है। ‘सीएफजे’ के सचिव धर्मेन्द्र प्रताप सिंह ने निरहुआ के व्यवहार के लिए उनकी घोर निंदा की है- ‘महाराष्ट्र पुलिस से मांग की है कि निरहुआ के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जाय, ताकि फिल्म पत्रकारों को निशाना बना रही तमाम सेलीब्रिटीज को सबक मिल सके !’

रानी चटर्जी ने किया निरहुआ का सपोर्ट

रानी चटर्जी ने यहां तक कह दिया कि निरहुआ ने इस पत्रकार को सुना कर बिलकुल ठीक काम किया है और अगर वह ऐसा नहीं करते तो शायद कुछ दिन बाद मैं ही ऐसा कर देती.  भोजपुरी जुबली स्‍टार दिनेश लाल यादव निरहुआ पिछले दो दिन से अपनी एक टिप्‍पणी के चलते सुर्खियों में हैं. दरअसल ‘निरहुआ’ के खिलाफ मुंबई में एक पत्रकार को फोन पर गाली-गलौच और जान से मारने की धमकी देने पर शिकायत दर्ज की गई है. लेकिन पुलिस में हुई इस कंप्‍लेंट के खिलाफ भोजपुरी सितारे निरहुआ के साथ खड़े नजर आ रहे हैं. भोजपुरी इंडस्‍ट्री की क्‍वीन कहलाने वाली एक्‍ट्रेस रानी चटर्जी तबियत खराब होने के बाद भी दिनेश लाल यादव के समर्थन में उतर गई हैं.

रानी चटर्जी ने कहा  निरहुआ ने इस पत्रकार को सुना कर बिलकुल ठीक काम किया

ऐसे में रानी चटर्जी ने यहां तक कह दिया कि निरहुआ ने इस पत्रकार को सुना कर बिलकुल ठीक काम किया है और अगर वह ऐसा नहीं करते तो शायद कुछ दिन बाद मैं ही ऐसा कर देती. रानी ने अपने फेसबुक पर निरहुआ के समर्थन में एक वीडियो पोस्‍ट किया है, जिसमें वह कहती नजर आ रही हैं कि उनकी तबियत खराब है लेकिन फिर भी उनका यह वीडियो काफी जरूरी है. रानी ने इस वीडियो में कहा, ‘तुम होते कौन हो मुंबई में बैठ कर कुछ भी लिखने वाले. रानी ने कहा कि पत्रकार के नाम पर आप कुछ भी नहीं लिख सकते. आपको पर्सनल लाइफ या फिल्‍म पर अटैक करने का कोई हक नहीं है.

निरहुआ की फिल्‍म ‘बॉर्डर’ को बिहार – यूपी में शानदार ओपिनिंग मिली.

गौरतलब है कि ईद के मौके पर दिनेशलाल यादव निरहुआ की फिल्‍म ‘बॉर्डर’ को बिहार – यूपी में शानदार ओपिनिंग मिली. मगर मुंबई में कुछ पत्रकारों ने ‘बॉर्डर’ के बारे में अपने फेसबुक पोस्‍ट पर जो लिखा, उससे दिनेशलाल यादव निरहुआ भड़क गए और उन्‍हें खरी – खरी सुना दी थी. इस वीडियो में रानी ने ये भी कहा कि ये लोग पत्रकारिता के नाम पर जानबूझ कर किसी को भी नीचा दिखाने का काम करते हैं और इसे वो समीक्षा कहते हैं. क्‍या फिल्‍म की समीक्षा किसी का चरित्र हनन करके होती है.

https://www.facebook.com/ImRaniChatterjee/videos/1961962844116287/

रानी ने इस वीडियो में भड़कते हुए कहा, ‘ये होते कौन हैं किसी की लाइफ के बारे में फैसला सुनाने वाले. इन्‍हें किसने अधिकार दे दिया कि ये कहें किसे काम करना है, किसे नहीं. पत्रकारिता के अपने कायदे और नियम भी होते हैं, क्‍या वो इन्‍हें पता है. इसलिए ऐसे लोगों का बहिष्‍कार होना चाहिए. मैं इस मामले में निरहुआ के साथ हूं.’

 

Back to top button
E-Paper