BHU में बवाल, आगजनी एवं तोड़फोड़ के बाद तनाव; पुलिसबल तैनात

बीएचयू में हिंसा, आगजनी एवं तोड़फोड़ के बाद तनाव

वाराणसी .  काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में जूनियर डॉक्टरों एवं छात्रों के बीच इलाज कराने को लेकर हुए विवाद के बाद यहां घंटों पथराव, तोड़फोड़ एवं आगजनी जैसी हिंसक घटनाएं हुईं।

विश्वविद्यालय के सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि सोमवार रात भर सैकड़ों छात्रों ने जमकर बवाल किया। एक चारपहिया वाहन, कई मोटरसाइकिलें, बीएचयू सुरक्षा बूथ आदि को आग के हवाले कर दिया गया। कुलपति आवास को भी निशाना बनाया गया। तनाव के मद्देनजर विश्वविद्यालय परिसर में बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है।

छात्रों के उग्र रूप को देखकर विश्वविद्यालय का सुरक्षा तंत्र एवं कई थानों की पुलिस घंटों तमाशबीन बनी रही। मारपीट एवं पथराव की अलग-अलग घटनाओं में करीब 15 छात्र घायल हो गये जिनमें ज्यादातर का इलाज बीएचयू के सरसुंदर लाल अस्पताल एवं ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है।

उन्होंने बताया कि एक जूनियर डॉक्टर ने एक छात्र की महिला रिश्तेदार का इलाज करने में आनाकानी की जिसके बाद हुए विवाद में दोनों ओर से एक दूसरे पर हमले किये गए। छात्र के समर्थकों ने बाहर खाना खाने गए एक जूनियर डॉक्टर की पिटाई कर दी जिससे वे भड़क गए तथा हड़ताल की चेतावनी देते हुए धरना-प्रदर्शन करने लगे। आरोप है कि बिड़ला छात्रावास के कई छात्रों ने रुईया छात्रावास में घुसकर जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट एवं तोड़फोड़ की। इससे पहले खाना खाने गए जूनियर डॉक्टरों की बीएचयू के मुख्यद्वार लंका के एक होटल में कई छात्रों ने पिटाई की जिससे वे उग्र हो गए।

 

Back to top button
E-Paper