गिव एण्ड टेक के लिए तैयार हुए दोनों देश

नबी अहमद

रूपईडीहा/बहराइच। सैकड़ों की संख्या मे नेपाली नागरिक भारतीय क्षेत्र व इतने ही लगभग भारतीय नागरिक नेपाली क्षेत्र मे फंसे है। दोनों देशों के प्रशासनिक अधिकारियों इन्हे क्वारेंटाइन मे रखा था। अब दोनों देशों के अधिकारियों के बीच सूची का आदान प्रदान किया जा रहा है। इस संबंध मे बुधवार की शाम जयचन्द्र पाण्डेय एडीएम बहराइच, राम आसरे वर्मा एसडीएम नानपारा, पुलिस क्षेत्राधिकारी अरूण चन्द व व उपनिरीक्षक उमाकांत मिश्र ने आपस मे स्थानीय रोडवेज बस स्टैण्ड पर बैठकर विचार विमर्श किया कि नेपाली नागरिकों का क्वारेंटाइन का समय पूरा हो चुका है। इसी प्रकार भारतीय नागरिकों का नेपाल मे समय पूरा हो चुका है।

सभी लोग अपने अपने घर जाना चाहते है। इस संबंध मे पड़ोसी नेपाली जिला बांके व बहराइच जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के बीच गिव एण्ड टेक के आधार पर आम सहमति बन चुकी है। गुरूवार को लगभग 12 बजे दोपहर पड़ोसी नेपाली थाना जमुनहां के इंचार्ज माधव रिजाल स्थानीय थाने मे नेपाल मे फंसे 442 भारतीय नागरिकों की सूची लेकर आये थे। इनमे अकेले 250 बहराइच के निवासी है। शेष लखीमपुर, महाराष्ट्र, हैदराबाद व कुछ मेडिकल छात्र है। उपनिरीक्षक उमाकांत मिश्र ने उनसे कहा कि भारतीय क्षेत्र की सूची आ चुकी है। यह सूची उन नेपाली नागरिकों की जो भारतीय क्षेत्र के नवयुग इण्टर कालेज मोतीपुर, नानपारा स्थित गुरगुट्टा व हाजी मो. यूसुफ डिग्री कालेज बाबागंज के शेल्टर होम मे रह रहे है। इस संबंध मे क्षेत्राधिकारी पुलिस नानपारा अरूणचन्द ने बताया कि भारतीय क्षेत्र से गुरूवार की शाम तक 07 सौ 35 नेपाली नागरिकों की वापसी होगी।

Back to top button
E-Paper