भारतीय सेना के दोनों जवानों का 14 दिनों के बाद भी नहीं पता चला, परिवार वालों ने भारतीय सेना से मांगा जवाब

नई दिल्ली । अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा पर ठकला चौकी पर तैनात भारतीय सेना की गढ़वाल राइफल्स के दो जवान 14 दिनों से लापता है। सेना के अधिकारियों ने 28 मई को दोनों जवानों के परिवार वालों को इस बात की जानकारी दी। इसके बाद परिवार वालों को दोनों सैनिकों के नदी में बह जाने की जानकारी दी गई लेकिन इन जवानों का पता नहीं चल सका है। अब इन जवानों के परिवार वालों ने भारतीय सेना से जवाब मांगा है।

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के ऊखीमठ निवासी नायक प्रकाश सिंह राणा और लांस नायक हरेंद्र नेगी 7वीं गढ़वाल राइफल्स में जवान हैं। वह इन दिनों अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा पर ठकला चौकी पर तैनात थे। इन दोनों जवानों के परिवार वालों को पहली बार 28 मई को सेना की ओर से फोन करके जानकारी दी गई कि दोनों जवान 28 मई से अपनी पोस्ट से लापता हैं। 34 वर्षीय नायक प्रकाश राणा की पत्नी ममता राणा का कहना है कि दूसरी बार 9 जून को फोन करके जानकारी दी गई कि लांस नायक हरेंद्र नेगी और नायक प्रकाश राणा के नदी में बहने की आशंका है।

इसके बाद से देहरादून में जवान के परिवार वालों में काफी बेचैनी है। परिवार में उनकी पत्नी ममता के अलावा दो नाबालिग बच्चे अनुज (10) और एक बेटी अनामिका (7) हैं। इस बीच सहसपुर के भाजपा विधायक सहदेव सिंह पुंडीर ने प्रकाश सिंह राणा के परिवार से उनके सैनिक कॉलोनी स्थित आवास पर मुलाकात की। पुंडीर ने कहा कि मैंने इस बारे में रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट से बात की है और उन्होंने जल्द से जल्द जवानों का पता लगाए जाने का आश्वासन दिया है।

लांस नायक हरेंद्र नेगी की पत्नी पूनम नेगी ने कहा कि हम मानने को तैयार नहीं हैं कि दोनों जवान नदी के पास गए हों और किसी को इसकी जानकारी तक नहीं है, इसलिए सेना साफ-साफ बताए कि आखिर क्या हुआ है। हरेंद्र नेगी के साथ पूनम की शादी को अभी तीन साल ही हुए हैं। नेगी दंपत्ति को एक साल का बच्चा है। दोनों जवानों के लापता होने की खबर मिलने के बाद से ममता राणा और रुद्रप्रयाग के रहने वाले लांस नायक हरेंद्र नेगी की पत्नी पूनम नेगी का भी बुरा हाल है। ममता राणा भी दोनों बच्चों अनुज और अनामिका के साथ अपने पति की राह देख रहीं हैं। सेना ने अभी इस मामले में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Back to top button