BSP के 18 में से 11 विधायक टूटे! 9 अखिलेश से मिले, बोले- सम्मान मिला तो सपा में नहीं तो अपनी पार्टी बनाएंगे

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए अब बहुत ही कम वक्त रह गया है। सबसे ज्यादा विधानसभा सीटों वाला राज्य होने के चलते अभी से ही चुनाव की तैयारियों को लेकर सभी राजनीतिक दल सक्रिय हो चुके हैं।

राज्य में जहां नेताओं के दल बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है। वहीँ कुछ नए गठबंधन और कुछ नए समीकरण बनने के आसार भी हैं। इसी बीच खबर सामने आई है कि उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी में टूट शुरू हो गई है।

खबर के मुताबिक, बसपा को बागी तेवर दिखाने वाले नेताओं ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की है। दरअसल बीते 4 सालों में बसपा प्रमुख मायावती ने पार्टी के 18 में से 11 विधायकों को बाहर निकाला है।

बीते हफ्ते ही बसपा ने 2 विधायकों पर पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाते हुए उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया है।

बताया जाता है कि बसपा से निकाले गए 11 में से 9 विधायकों ने आज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की।

इसके अलावा बसपा से निकाले गए दो विधायक भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में भी बने हुए हैं। जिनके नाम है राम अचल राजभर और लालजी वर्मा।

गौरतलब है कि अगर बसपा से निकाले गए नेता समाजवादी पार्टी के साथ जाते हैं तो अखिलेश यादव को मनोवैज्ञानिक बढ़त मिल सकती है।

आपको बता दें कि बसपा उत्तर प्रदेश की इकलौती ऐसी राजनीतिक पार्टी है जिसके 61 फीसदी विधायक पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में पार्टी से निष्कासित किए जा चुके हैं।

समाजवादी पार्टी के साथ जाने के अलावा विधायकों के पास दूसरा विकल्प अपना नया राजनीतिक दल बनाना है।

इनका कहना है कि हमारे पास एक विधायक की कमी है। अगर मुमकिन हो पाया तो हम एक अपना अलग राजनीतिक दल बना सकते हैं।

Back to top button
E-Paper