जरवल नगर पंचायत पर गाज गिरने के लिए उमड़-घुमड कर उठ रहे हैं बादल !

अनियमितता का जिन्न तो बाहर आने को बेताब है हुजूर ! फिर भी जाँच मे देरी ?

जाँच के लिए एक कैबिनेट मन्त्री के साथ नगर विकास के उप सचिव के पैड की अहमियत भी नही समझ रहे जाँच अधिकारी !

अशोक सोनी
जरवल/बहराइच। बीते ढाई बरस से जरवल नगर पंचायत मे वित्तीय अनियमितताओं का खेल अब तो जग-जाहिर भी होने लगा है यहाँ पर कागजो के खेल मे सरकार के करोड़ो रुपयो पर जो खेल खेला गया है।उस पर एक जाँच कमेटी भी प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने शिकायत कर्ता जरवल के कृष्णा वार्ड की सभासद श्री मती कोमल लता गुप्ता के पति एवं उनके प्रतिनिधि चन्दन गुप्ता के शिकायती पत्र पर राजेन्द्र मणि त्रिपाठी उप सचिव उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ को उच्चस्तरीय जाँच के लिए हरी झंडी भी दिखा दी है।

जिसमे तमाम सभासदों ने जाँच करवाने की लिखित सहमति के साथ वित्तीय अनियमितताओं के तमाम साक्ष्य भी सौप चुके है।शासन के महत्व पूर्ण पत्र संख्या 1984/9-2020 के माध्यम से जिलाधिकारी बहराइच को भी उच्चस्तरीय जाँच के लिए लिखा गया है। जिस पर डीएम बहराइच शंभू कुमार ने तीन फरवरी 2020 को जाँच के लिए एक टीम एसडीएम कैसरगंज बाबू राम की अध्यक्षता मे तीन सदस्यीय टीम भी गठित की जिसमे उधोग केन्द्र बहराइच के जी एम राम मोहन शर्मा व नगर पालिका बहराइच के अधिशाषी अधिकारी पवन कुमार को लगा दिया उसके भी तीन माँह  गुजर गए लेकिन वित्तीय अनियमितताओं की जाँच के लिए संबंधित अधिकारीयो को अभी फुर्सत नही मिल सकी है।बताते चले पाँच नवम्बर 2019 से अभी तक शिकायत कर्ताओ की फाइल को देखने की किसी को फुर्सत ही नही मिल पाई है।

जिससे यहाँ का निकाय प्रशासन अपने बचाव का रास्ता ढूंढने लगा है।दूसरी तरफ वित्तीय अनियमितताओं का जिन्न अब बाहर आने को यहाँ बेचैन भी हो रहा है।अब शिकायत कर्ता सभासदों मे कोमल लता गुप्ता,शकील राईनी,जलील अंसारी,शारिब अहमद,अफजाल अहमद,इबरार,मो.आरिफ,साकरूँन बानो आदि ने बताया कि इलाकाई कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा को सरकारी धन की हो रही लूट के हम लोगो ने सारे साक्ष्य भी दे दिए है फिर भी जाँच मे हो रही टाल मटोल तमाम तरह के सवाल भी खडे कर रहे हैं।सूत्रों की माने तो चौदह बिंदुओं की जाँच के लिए जाँच कमेटी को कब फुर्सत मिलेगी लोग अहमियत कब समझेगे एक यक्ष प्रश्न भी बन चुका है।शिकायत कर्ता सभासदों ने बताया यदि समय रहते जाँच हो जाए तो करोड़ो रुपयो को निकाय प्रशासन ने कैसे डकार लिया है खुलासा भी हो सकता है।


*जरवल।* नगर पंचायत जरवल मे सरकारी धन के दूरुपयोग जैसी कई चीजों की जाँच मुझे मिली है लॉक डाउन के कारण देरी जरूर हुई है पर जल्द ही पारदर्शी जाँच शुरू कर दी जावेगी।
बाबू राम
उपजिलाधिकारी
कैसरगंज


जरवल।समय नही मिल पा रहा है व्यस्तता के कारण जाँच मे देरी हुई है समय मिलते ही जाँच शुरू कर दी जावेगी।
पवन कुमार
अधिशाषी अधिकारी
नगर पालिका परिषद बहराइच

जीएम का मोबाइल नेटवर्क एरिया से बाहर बता रहा था
जरवल।जरवल नगर पंचायत मे हुए वित्तीय घोटाले को लेकर जाँच कमेटी मे शामिल उधोग केन्द्र के जीएम राम मोहन शर्मा से वार्ता करनी चाही तो बात नही हो सकी।उनका फोन नेटवर्क एरिया से बाहर बता रहा था।

Back to top button
E-Paper