एक और भारत बंद की तैयारी, अब पेट्रोल-डीज़ल के लिए छिड़ी जंग…

नई दिल्ली : तेल की लगातार बढ़ती कीमत से राहत नहीं मिलने पर कांग्रेस पार्टी ने केंद्र सरकार के खिलाफ भारत बंद का आह्वान लिया है। पार्टी नेता रणदीप सुरजेवाला ने इसबारे में जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस पार्टी 10 सितंबर को भारत बंद करेगी। पार्टी ने अन्य विपक्षी दलों, सामाजिक संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे ‘भारत बंद’ का समर्थन करें। कांग्रेस ने बताया कि ‘भारत बंद’ सुबह 9 बजे से दिन में तीन बजे तक होगा ताकि आम जनता को दिक्कत नहीं हो।

​जानें, क्रूड ऑइल का EMI पर क्या असर?

वहीं सुरजेवाला के साथ मौजूद पार्टी के सीनियर नेता अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस ने सरकार को ‘नींद से जगाने’ के लिए 10 सितंबर को तेल के दाम में वृद्धि के खिलाफ भारत बंद का आयोजन करने का फैसला किया है। पार्टी के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने कहा, ‘आज देश का कोई वर्ग खुश नहीं है। मंहगाई की मार ने सबकी कमर तोड़ दी है। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम से सब परेशान हैं। हिंसा का माहौल भी है। हर कोई परेशान है।’ पत्रकारों से बात करते हुए सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने 11 लाख करोड़ रुपये की फ्यूल लूट की है।

सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं, अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे और अशोक गहलोत ने विपक्षी पार्टियों से बात की है। सभी ने इसके समर्थन की बात की है। पार्टी के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल ने कहा, ‘ज्यादातर विपक्षी पार्टियों से हमारी बात हुई है। ज्यादातर ने समर्थन किया है। तृणमूल कांग्रेस ने समर्थन की बात की है, लेकिन वह बंद में शामिल नहीं होगी। बसपा से अभी बात नहीं हुई है।’

सुरेजवाला ने बताया कि गुरुवार को कांग्रेस के टॉप लीडरशिप ने प्रभारी महासचिवों व पीसीसी चीफ के साथ मीटिंग कर इस कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस मांग करेगी की पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ रसोई गैस पर सरकार तुरंत उत्पाद शुल्क को कम करे और इन्हें जीएसटी के दायरे में भी लाया जाए। सुरजेवाला ने कहा, ‘मोदी सरकार ने साढ़े चार साल में पेट्रोल-डीजल पर कर लगाकर 11 लाख करोड़ रुपये कमाया। आम लोगों की जेब पर डाका डालकर जो पैसे निकाले गए वो किसके जेब में गए, मोदी जी बता नहीं रहे हैं।’

Back to top button
E-Paper