भारत में कंटेंट कन्ज़म्पशन तेज़ी से बदल रहा है- शॉर्ट वीडियो ऐप्स निभाते हैं महत्वपूर्ण भूमिका

:–भारत में कंटेंट का उपभोग तेज़ी से बदल रहा है- शॉर्ट वीडियो की महत्वपूर्ण भूमिका

:– सब-हेडलाइन: सोशल मीडिया क्रांति और साल 2020 से शॉर्ट वीडियो कंटेंट का क्रमिक विकास

भास्कर ब्यूरो
नई दिल्ली। अनेकों चीनी ऐप्स पर भारत द्वारा लगाई गई पाबंदी के थोड़े समय बाद ही, देश के सोशल मीडिया लैंडस्केप में मौजूदा और नए, दोनों प्रकार के बाज़ार के खिलाड़ियों के लिए प्लैटफॉर्म को अपनी पकड़ में लेने के लिए एक अनुकूल माहौल के तैयार होने के संकेत मिलने लगे। चिंगारी ऐप के सह-संस्थापक और सीईओ श्री सुमीत घोष ने जानकारी देते हुए कहा यह कहने की कोई ज़रुरत नहीं है, कि शॉर्ट और लॉन्ग वीडियो फॉर्मेट लगातार प्रत्येक ब्रांड की मार्केटिंग रणनीति के कंटेंट का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनते जा रहे हैं। सोशल मीडिया के विकास के कारण इंसानों का ध्यान बनाए रखने की अवधि दिन ब दिन छोटी होती जा रही है। इसलिए आज के समय में आपके प्रतिस्पर्धियों से एक कदम आगे रहने और आपके दर्शकों को जोड़े रखने में सहायता के लिए वीडियो के माध्यम से शॉर्ट फॉर्म कंटेंट की ताकत का अच्छी तरह उपयोग करना महत्वपूर्ण हो गया है।


शॉर्ट वीडियो ऐप्स ब्राउज़ करने के लिए 5 करोड़ से ज़्यादा भारतीय शॉर्ट वीड़ियो ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं। केवल कुछ साल पहले सारी दुनिया में लॉन्च किए गए ये शॉर्ट वीडियो शेयरिंग ऐप्स बेहद तेज़ी से लोकप्रिय हो गए हैं। और लोकप्रियता में यह उछाल ब्रांड्स के लिए ऐप के वायरल होने की उपलब्धि का कुछ हिस्सा पाना संभव बनाता है। यह कहना पर्याप्त होगा, कि आज के आधुनिक टेक्नोलॉजी आधारित समय में वीडियो मार्केटिंग ट्रेंड में जल्द कोई बदलाव नहीं होने वाला है। यह रिपोर्ट किया गया है कि कंटेंट के किसी भी प्रारुप को जिस दर से भेजा जाता है, उसकी दोगुना रफ्तार की दर से वीडियो को शेयर किया जाता है, और यह भी पाया गया है कि शॉर्ट फॉर्म वीडियो के आधार पर, जो किसी भी तरह दर्शक का ध्यान आकर्षित करते हैं, किसी भी उत्पाद या सेवा को खरीदने या इस्तेमाल करने के लिए लोगों की एक महत्वपूर्ण आबादी को यकीन दिलाया जाता है। पचास प्रतिशत से भी अधिक कंपनियाँ पहले से ही वीड़ियो फॉर्मैट का इस्तेमाल एक मार्केटिंग साधन के रुप में कर रही है, और आपके वीडियो कंटेंट का विस्तार करने और इस प्रकार आपके ब्रांड की पहुँच बढ़ाने का यह एक अच्छा तरीका है। यदि आप पहले से वीड़ियो का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो यह आपकी मौजूदा मार्केटिंग रणनीति में वीडियो को एकीकृत करने का एक उचित पहुँच योग्य मार्ग प्रदान करती है। शॉर्ट वीडियो ऐप्स व्यापारों और इन्फ्लुएंसर्स दोनों के लिए एक क्रांतिकारी बदलाव साबित हुआ है। आज शॉर्ट वीडियो एप्लिकेशन्स सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले और पसंद किए जाने वाले रोज़ाना के एप्लिकेशन्स हैं। और इसका कारण बहुत सरल है: य़ह लोगों को एक नया विकल्प, पर्याप्त उत्तेजन प्रदान करते हैं और आज के जीवन की तेज़ रफ्तार को देखते हुए बेहद उपयुक्त हैं। और यही कारण है कि ज़्यादातर ऑनलाइन विज्ञापनदाता शॉर्ट फॉर्म वीडियो ऐप्स को उनकी मार्केटिंग रणनिति के शीर्ष पर प्रदर्शित करते हैं, जो ग्राहकों के साथ जुड़ने और अपनी बात कहने का एक किफ़ायती तरीका है। ग्राहकों को जोड़े रखने और इस प्रकार से हासिल की गई रोमांच की गति को बनाए रखने के लिए व्यापार और इन्फ्लुएंसर्स दोनों ही अधिक फीचर्स (फिल्टर्स, स्टिकर्स, आदि) और कैम्पेन के साथ इस बड़े मौके का लाभ उठाने का प्रयास करते हैं। शॉर्ट वीडियो ऐप्स की जगह बेहद उच्च रुप से क्रिएटिव कंटेंट की भरमार है और आज 10 में से 7.2 स्मार्टफोन यूजर्स के पास कम से कम एक शॉर्ट वीडियो ऐप है। आज के इस दौर में जहां सबकुछ आसानी से उपलब्ध है, ग्राहकों के ध्यान की अवधि दिन ब दिन छोटी होती जा रही है। उन्हें सबकुछ तेज़ी से और आसानी से उपलब्ध चीज़ें पसंद हैं और यह सब होते हुए भी काफी रोचक आंकड़े सामने आते हैं। मज़ेदार और इनोवेटिव कंटेंट के साथ 15 सेकंड या इससे भी कम समय वाले शॉर्ट वीडियो भी उल्लेखनीय तरीके से ब्रांड के संदेश को लोगों तक पहुँचा सकते हैं। जनरेशन ज़ेड और मिलेनीयल्स द्वारा इन शॉर्ट वीडियो एप्लिकेशन्स को प्रोत्साहन दिया जाता है। इस प्रकार के यूज़र्स शॉर्ट वीडियो ऐप्स के साथ नाचते हैं, उछल कूद करते हैं, लिप सिंक करते हैं और कॉमेडी स्किट्स भी तैयार करते हैं।
हाल के कुछ वर्षों में डिजिटल टेक्नोलॉजी, स्ट्रीमिंग और शॉर्ट-वीडियो प्लैटफॉर्म्स के तेज़ी से हुए आगमन के साथ कंटेंट क्रिएशन में 10 गुना बढ़ोतरी देखी गई है। लगातार हो रही इस डिजिटल क्रांति और लगातार हो रहे कंटेंट क्रिएशन ने क्रिएटर्स और इन्फ्लुएंसर्स के लिए पैसे कमाने के एकदम नए रास्ते खोल दिए हैं। इसी का एक बेहतरीन उदाहरण है $गारी द्वारा संचालित भारत में निकसित हुआ शॉर्ट वीडियो ऐप- चिंगारी, जो कंटेंट मोनिटाइज़ेशन की राह पर भारतीय क्रिएटर्स को सक्रिय रुप से आगे बढ़ा रहा है और जिसने ऐप को वेब3 के साथ इंटीग्रेट कर सोशल मीडिया इकोसिस्टम में धूम मचा दी है। एक करियर के विकल्प के तौर पर कंटेंट क्रिएशन हाल के समय में ही उभर कर सामने आया है और आज विभिन्न प्लैटफॉर्म्स पर क्रिएटर्स बड़ी संख्या में मौजूद हैं और एक कंटेंट क्रिएटर के तौर पर शोहरत पाने के लिए अपने कंटेंट पर उन्होंने सफलतापूर्वक लाखों फॉलोवर्स, लाइक्स और शेयर्स हासिल कर लिए हैं। हालांकि, सभी लोग अपने अनोखे कंटेंट को मॉनिटाइज़ करने में अधिक सफल नहीं रहे हैं। अन्य प्लैटफॉर्म्स के लिए अनेकों रील तैयार करने या शॉर्ट वीडियो निर्माण करने के बाद भी कई उभरते हुए क्रिएटर्स यानी जिनके पास 10 लाख से कम फॉलोवर्स हैं, उन्हें किसी भी ब्रांड द्वारा प्रचार की गतिविधियों के लिए संपर्क नहीं किया जाता, और ज़्यादातर शॉर्ट-वीडियो ऐप्स के पास भी इन उभरते हुए और प्रतिभाशाली क्रिएटर्स को उनके प्रयासों के लिए पेश करने लायक कोई भी आर्थिक मूल्य नहीं है। ऐसे कई क्रिएटर्स और यूज़र्स हैं जो कंटेंट क्रिएशन को एक स्थिर करियर विकल्प के तौर पर चुनना चाहते हैं और $गारी द्वारा संचालित शॉर्ट-वीडियो ऐप उन्हें उनके इस लक्ष्य को हासिल करने में सहायता कर रहा है।
उदाहरण के तौर पर, चिंगारी ऐप पर संतोषी नाम की एक तेलगु क्रिएटर नियमित रुप से मनोरंजन वीड़ियोज़ तैयार कर रही है और ऐप पर $गारी टोकन्स कमा रही है, और इसके साथ ही चिंगारी सुपस्टार बनने के उसके अंतिम लक्ष्य को हासिल करने के लिए वोट भी पा रही है। 10 हज़ार से अधिक क्रिएटर्स ऐप पर सक्रिय रूप से वीडियो बना रहे हैं और कूकॉइन द्वारा प्रस्तुत चिंगारी सुपरस्टार प्रतियोगिता का खिताब जीतने और 1 करोड़ रुपए मूल्य के $गारी टोकन्स पाने के लिए मुकाबला कर रहे हैं। इसके साथ ही चिंगारी सुपरस्टार्स प्रतियोगिता के विजेताओं को 2 करोड़ रुपए मूल्य के $गारी टोकन्स जीतने का भी मौका है। चिंगारी ऐप के सह-संस्थापक और सीईओ श्री सुमीत घोष ने जानकारी देते हुए कहा क्रिएटर्स के लिए यह राशि, विशेष रुप से जो टीयर2, 3 और 4 के शहरों से आते हैं, ज़्यादा बेहतर इक्विपमेंट खरीदने में सहायता करेगी ताकि वे बेहतर गुणवत्ता वाले वीडियो बना सकें, बेहतर तरीके से खुद को तैयार कर सकें और संपूर्ण भारत में दर्शकों तक पहुंच सकें। उन्होंने आगे जोडते हुए कहा, “ $गारी द्वारा संचालित चिंगारी ऐप सोशल मीडिया स्पेस में वेब3 क्रांति का नेतृत्व कर रहा है। यह उभरते हुए क्रिएटर्स और यूज़र्स को मनोरंजक वीडियो तैयार करने और $गारी टोकन के रूप में कमाई करने के लिए एक प्लैटफॉर्म पेश कर रहा है और इस प्रकार कंटेंट क्रिएटर्स की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने का काम कर रहा है। जिन लोगों को कुछ विशिष्ट कौशल्य और निपुणता प्राप्त है और जो उनके कंटेंट को मोनिटाइज़ करने की कोशिश कर रहे हैं, उनके लिए चिंगारी ऐप उन्हें एक प्लैटफॉर्म दे रहा है ताकि वे अपनी प्रतिभा प्रदर्शित कर सकें, वीडियो तैयार कर सकें और इससे पैसे भी कमा सकें। वर्तमान में कंटेंट क्रिएटर्स ट्रेंड स्थापित करने वाले बन गए हैं और $गारी टोकन्स द्वारा संचालित चिंगारी ऐप इस डिजिटल समुदाय को हर संभव सहायता करने का प्रयास कर रहा है। वेब3 इकोसिस्टम का कंटेंट क्रिएशन और मॉनिटाइज़ेशन में एक बड़ी बढोतरी लेकर आना तय है। हर जगह मौजूद डिजिटलाइज़ेशन ने भारत की ग्रामीण आबादी में अनेकों तरह की नई समझ पैदा कर दी है। वे वास्तव में उनके ज्ञान और कौशल के अथाह भंडार को प्रत्येक व्यक्ति के साथ साझा करने, संपूर्ण भारत में दर्शकों के साथ जुड़ने की मंशा रखते हैं और चिंगारी ऐप उनकी स्थानीय भाषाओं में उन्हें ऐसा करने का एक मौका प्रदान करता है। चिंगारी द्वारा घोषित महीने भर चलनेवाली प्रतियोगिता का विस्तार अब 31 मार्च तक के लिए किया गया है और चिंगारी सुपस्टार्स के विजेताओं की घोषणा अप्रैल 2022 में की जाएगी।

Back to top button