छत्तीसगढ़ में कोरोना की रफ्तार हुई दोगुनी, 24 घंटे में 147 नए मरीज

रायपुर, । छत्तीसगढ़ में कोरोना ने रफ्तार पकड़ ली है। पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना के 147 नए संक्रमित मरीज मिले हैं। इसमें दो डॉक्टर, एक पत्रकार की बेटी, दुकानदार और मजदूर शामिल हैं। इनमें से कई ऐसे हैं जिनकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है और वे घर में ही संक्रमित हो गए हैं। कोरोना की इस भयावहता को देखने के बावजूद प्रशासन और जनता दोनों ही लापरवाह महसूस हो रहे हैं।

बाजारों में भीड़ है, लोक चौराहों पर दिख रहे हैं।गुरुवार देर रात तक मिले आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में कुल 773 संक्रमित मरीज हो गए हैं, जिसमें 565 एक्टिव हैं। 206 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं और दो की मौत हुई है।स्वास्थ विभाग के अनुसार गुरुवार से राज्य में कोरोना की रफ़्तार 15.5 प्रतिशत के हिसाब से बढ़ रही है। पहले आठ दिनों में कोरोना पाजीटिव दोगुने हो रहे थे, अब चार दिनों में ही दोगुने कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं।गुरुवार देर रात तक महासमुंद में 31, जसपुर में 25, जांजगीर में 29 ,बिलासपुर में 17, रायपुर में आठ, राजनांदगांव में 8, बलौदा बाजार में 7,रायगढ़ में 6, कबीरधाम में 4,बालोद में तीन, गरियाबंद में तीन, दुर्ग में दो और सूरजपुर में दो नए कोरोना पॉजीटिव मरीज मिले हैं।

इन मरीजों में सिम्स बिलासपुर के दो डॉक्टर, अस्पताल का एक एक स्टाफ, एक 15 वर्षीय लड़की भी शामिल है।स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव के अनुसार संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो सकता है। स्वास्थ्य विभाग का अनुमान है कि जून माह में कोरोना मरीजों की संख्या दो हजार से ज्यादा हो सकती है।

सबसे ज्यादा चिंता प्रदेश के उद्योग प्रधान क्षेत्रों को लेकर है। रायपुर का औद्योगिक क्षेत्र  वीरगांव को लेकर प्रशासन बेहद चिंता में है। यहां उरला में भी एक प्रवासी श्रमिक कोरोना पॉजिटिव मिला है।स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता डॉक्टर अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि सभी मरीजों को अस्पताल में दाखिल करवा दिया गया है और उनकी हिस्ट्री का पता लगाया जा रहा। जहां-जहां  मरीज मिले हैं, उन्हें जोखिम क्षेत्र बनाया जा रहा है। राजधानी रायपुर वैसे भी रेड जोन में शामिल कर लिया गया है। यहां तक 27 कोरोना  संक्रमित मरीज मिल चुके हैं।

Back to top button
E-Paper