कोरोना महामारी: आरएसएस ने किया अनुपम कार्य, श्रमिकों के पैरों में चप्पल तक पहनाएं प्रचारक : योगी

लखनऊ, । उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पूरे कोरोना संकट के दौरान कांग्रेस के खानदान या अन्य विरोधी दलों की उपस्थिति कहीं भी दिखाई नहीं पड़ी। ये लोग केवल सोशल मीडिया एवं बयान तक ही सीमित थे। जब देश कोरोना के विरुद्ध एक बड़ी लड़ाई को लड़ रहा है, तब यह लोग उसमें विघ्न डालने का काम कर रहे थे। लेकिन इस संकट के दौरान सेवा का कार्य भी देखने को मिला।

सीएम ने कहा कि तमाम सामाजिक संगठनों, सांस्कृतिक संगठनों, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अनुपम कार्य किया। कोई कल्पना कर सकता है कि पैदल चलने वाले कामगारों एवं श्रमिकों के पैरों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक चप्पल पहना रहे हैं। इसकी परवाह किए बगैर की उन्हें भी संक्रमण हो सकता है, जगह-जगह खड़े होकर उनके लिए भोजन के पैकेट की व्यवस्था कर रहे हैं। इन संगठनों के कार्य अनुकरणीय हैं। उक्त बातें सीएम योगी रविवार को एक चैनल को दिए साक्षात्कार में कही।

उन्होंने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में आवागमन के लिए हम लोग भारत सरकार की गाइड लाइन के अनुलाप चल रहे हैं। इसके अलावा इस विषय को लेकर भारत सरकार की गाइड लाइन को ध्यान में रखकर हमने एक खास रणनीति बनाई है। अगले सप्ताह भारत सरकार के साथ एक बैठक है, जिसमें हमारे अधिकारी जाएंगे और उन्हें अपनी रणनीति बताएंगे। उसके बाद भारत सरकार जो भी गाइड लाइन तय करेगी उसको उत्तर प्रदेश और एनसीआर में हम लागू करेंगे।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से दिल्ली और दिल्ली से उत्तर प्रदेश आने-जाने वाले लोगों के लिए हमने पास जारी किया है। दिल्ली ने जो पास जारी किए हैं, उसे उत्तर प्रदेश में अनुमन्य किया गया है और उत्तर प्रदेश ने जो पास जारी किए हैं, उसे दिल्ली में मान्य किया गया है।

एक दिन में 57000 उद्यमियों को उपलब्ध करवाया लोन
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश में वापस आए कामगारों एवं श्रमिकों को हमने सहृदयता के साथ गले लगाया। घर जाते वक्त उन्हें भरण-पोषण भत्ता देने के साथ ही राशन की किट भी उपलब्ध करवाई। उन्होंने कहा कि लोन लेने के इच्छुक 57000 उद्यमियों को हमने पीएम पैकेज के माध्यम से बैंक से एक ही दिन में लोन दिलवाया। इसी प्रकार से हम लोगों ने प्रदेश के स्ट्रीट वेंडर को लेकर भी कार्य योजना बनाई है। जिसके तहत पीएम स्ट्रीट वेंडर योजना के तहत हाथठेला, फेरीवाले और रेहड़ी लगाने वालों को 10 हजार का कर्ज दिया जाएगा। इसके लिए हमारी सरकार लोन मेला का आयोजन करने जा रही है। जिसमें इच्छुक वेंडर्स को यह मदद दी जाएगी।

Back to top button
E-Paper