तेल कंपनियों पर मंडराया संकट, रात नौ बजे के बाद पेट्रोल-डीजल की बिक्री पर लगी रोक

तेल की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए केंद्र सरकार ने एक्साइज ड्यूटी घटा दी। वहीं अब राजस्थान में दो तेल कंपनियाें HPCL (हिंदुस्तान पेट्रोलियम काॅरपाेरेशन लिमिटेड) और BPCL (भारत पेट्रोलियम काॅरपाेरेशन लिमिटेड) ने घाटा कम करने के लिए तेल की राशनिंग शुरू कर दी है।

दोनों कंपनियों के सेल्स ऑफिसर पेट्रोल पंप संचालकों को खुले निर्देश दे रहे हैं कि वर्किंग आवर्स 8 घंटे ही रखें। यानी रात 9 बजे के बाद पेट्रोल-डीजल की बिक्री न करें। तेल की सेल घटाई जाए। दोनों कंपनियों के अफसरों ने अपने स्तर पर ही तेल कम देना शुरू कर दिया है।

पेट्रोल-डीजल की सप्लाई पर ब्रेक

तेल कम देने के पीछे आगे से सप्लाई कम मिलना बताया जा रहा है, जबकि IOC (इंडियन ओयल कॉरपोरेशन लिमिटेड) अपने स्तर पर पूरे तेल की सप्लाई कर रही है। हालत यह है कि राजस्थान के 6700 पंप में से 4500 पंप रविवार को सूखने की कगार पर पहुंच गए हैं। 11 जून को दूसरा शनिवार व 12 जून को रविवार होने के कारण तेल डिपो बंद रहेंगे। सोमवार को ही सप्लाई सुचारू हो सकेगी। इस अघोषित तेल संकट पर कंपनियों के अफसरों ने चुप्पी साध रखी है। वहीं रिलायंस व एस्सार के पंप पर तेल की बिक्री नहीं हो रही।

दोनों कंपनियों ने इस सप्ताह से शुरू की राशनिंग

दोनों तेल कंपनियों ने मई के दूसरे सप्ताह से ये राशनिंग शुरू की है। इसके पीछे उच्च स्तर का हवाला दिया गया है। पहले डिमांड ड्राफ्ट के जरिए बुकिंग करवाते ही हाथों-हाथ आपूर्ति होती थी, लेकिन अब एडवांस बुकिंग मांगी जा रही है। इसके बावजूद भी दो से तीन दिन में सप्लाई की जा रही है। राजस्थान के जयपुर, जोधपुर अजमेर व कोटा स्थित तीनों कंपनियों के डिपो तेल के लिए मिलने में दिक्कत आ रही है।

ये तो वैश्विक संकट है

जोधपुर में BPCL के डिपो इंचार्ज एसके राजपूत से बात की तो उन्होंने तेल संकट होने की बात खारिज कर दी। फिर कहा- ये वैश्विक संकट है। इसी तरह जयपुर में HPCL के डीजीएम आशीष सिंघल ने इस मुद्दे पर बात करना उचित नहीं समझा।

कंपनियों का दावा- 12 से 14 रु./लीटर तक हो रहा घाटा

21 मई को केंद्र ने पेट्रोल पर 9.55 रु. व डीजल पर 7.20 रु./ली. एक्साइज ड्यूटी घटाई। पहले से ही तेल की कीमतों में उछाल पर ब्रेक लगा रखा है। BPCL व HPCL कम हो रहे मुनाफे के लिए इसे ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। दोनों कंपनियों के अफसर डीजल पर 14 रु. और पेट्रोल पर 11 से 12 रु./लीटर नुकसान की बात कह रहे हैं।

राजस्थान में तेल की बिक्री
डीजल : रोज 1.10 करोड़ लीटर
सालाना 400 करोड़ लीटर
पेट्रोल : रोज 23 लाख लीटर
सालाना 85 करोड़ लीटर

राजस्थान पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष सुनीत बगई बाेले- HPCL और BPCL अपने डीलर्स को तेल की सप्लाई नहीं दे रहे हैं। डीजल की सप्लाई तो रोक दी गई है। HPCL के सीएमडी डॉ. पुष्प कुमार जोशी, BPCL के कार्यकारी निदेशक पीएस रवि को स्थिति से अवगत कराया है। फिर भी हालात नहीं सुधरे।

Back to top button