दैनिक भास्कर यूपी से राजस्थान मे फंसे बहराइच के प्रवासी मजदूरों ने फोन यूँ दर्द किया बयां…देखे VIDEO

मुख्यमंत्री जी राजस्थान मे फंसे बहराइच के आठ प्रवासी मजदूरो पर भी नजरे इनायत कर ले !

घर आने की बेबसी इन प्रवासी मजदूरों की फरियाद भी कोई नही सुनता ?

भाजपा युवा मोर्चा के नेता रजत स्वामी,सेफ ड्राइव सेव लाइफ संस्था के सचिव मोहन सोनी एवं दूध सप्लाई यूनियन के प्रधान सुभाष स्वामी ने दिखाई मानवीय संवेदना रख रहे हैं प्रवासी मजदूरों का पूरा ध्यान

बहराइच। किसी भी प्रवासी मजदूर को न तो भूखे रहने दूँगा न पैदल चलने दूँगा उसे उसके घर भेजवाने की पूरी व्यवस्था उत्तर प्रदेश की सरकार कर रही है इस तरह की मानवीय संवेदना तो प्रदेश के मुखिया योगी जी के दिलो दिमाग मे हिचकोले तो जरूर ले रहा है पर उस पर प्रशासनिक अमला अमल कितना कर रहा है सुने उन प्रवासी मजदूरों की जुबानी जो सैकड़ो कोस पैदल यात्रा करके भी राजस्थान से बहराइच नही पहूंच पाए हैं। बताते चले राजस्थान मे बहराइच के आठ प्रवासी मजदूरों की पीड़ा कोई सुनना ही नही चाहता जिससे वे लोग अपने घर पहुँचे एक यक्ष प्रश्न बन चुका है।


शुक्रवार शाम को रायसिंहनगर से बहराइच, उत्तर प्रदेश जाने के लिए तीन दिन से पैदल चलकर श्रीगंगानगर आये आठ प्रवासी मजदूरों को साधुवाली शेल्टर होम पहुंचाया गया है।


शुक्रवार शाम 6 बजे गंगनहर पुल पर आठ प्रवासी श्रमिकों को भाजयुमो नेता एडवोकेट रजत स्वामी ने बैठे देखा तथा इनकी तत्काल सूचना फोन पर सेफ ड्राइव सेव लाइफ संस्था के सचिव मोहन सोनी एवं दूध सप्लाई यूनियन के प्रधान सुभाष स्वामी को दी। प्रवासी मजदूरों की सूचना मिलते ही सेफ ड्राइव सेव लाइफ के सचिव मोहन सोनी ने उपखण्ड अधिकारी उम्मीद सिंह रतनू को जानकारी देकर इन्हें शेल्टर होम भिजवाने का निवेदन किया । उपखण्ड अधिकारी ने इन प्रवासी मजदूरों को साधुवाली स्कूल में भेजने को कहा।


यंहा दूध सप्लाई यूनियन के प्रधान सुभाष स्वामी के सहयोग से प्रवासी मजदूरों को चाय नाश्ता करवाया गया। इसके पश्चात थ्री व्हीलर की सहायता से साधुवाली शैल्टर होम पहुंचाया जहां इनका पंजीकरण करने के बाद भोजन व सोने की व्यवस्था प्रशासन के सहयोग से करवाई गई है। समाजसेवी सोनी और दूध यूनियन प्रधान सुभाष स्वामी ने बताया कि इन प्रवासियों के घर वापसी के लिए वे जिला प्रशासन से निवेदन कर हर सम्भव प्रयास तो कर रहे हैं बावजूद इसके बहराइच के इन प्रवासी मजदूरों को कैसे लाया जाए कि गुलथी अधिकारीगण नही सुलझा रहे हैं।राजस्थान मे फंसे बहराइच के ये प्रवासी मजदूरों ने अनेको बार बहराइच के अधिकारियों से वार्ता की जिन्हे कोई सुनने वाला नही था एसे अधिकारी प्रदेश सरकार की कम किरकिरी भी नही करा रहे हैं।मजबूर होकर ये प्रवासी मजदूरों ने अपनी पीड़ा दैनिक भास्कर को भी फोन से बताई की उनकी आवाज शायद प्रदेश के मुखिया योगी जी तक पहुच जाए ताकि व लोग अपने घर पहुँच सके।

ब्यूरो चीफ कुतुब अंसारी के साथ अशोक सोनी

Back to top button
E-Paper