बेटी देती रही दुहाई, घर में घुसकर संघ कार्यकर्ता को घसीट ले गई पुलिस !

मेरठ । गुरुवार की रात जागृति विहार सेक्टर सात को जोखिम (हाॅटस्पाॅट) क्षेत्र से बाहर करने की मांग को लेकर लोगों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान मेडिकल पुलिस ने घर में घुसकर एक संघ कार्यकर्ता को पीटा और घसीटकर ले गई। इस दौरान बेटी पुलिस से संघ कार्यकर्ता को बचाने की गुहार लगाती रही। बाद में हंगामा होने पर पुलिस ने थाने से संघ कार्यकर्ता को छोड़ दिया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

जागृति विहार सेक्टर सात को दो कोरोना केस मिलने के बाद जोखिम क्षेत्र (हाॅटस्पाॅट) घोषित कर दिया था। इस मोहल्ले के बराबर में स्थित कालियागढ़ी में भी कोरोना केस मिलने पर उसे भी जोखिम क्षेत्र (हाॅटस्पाॅट) बनाकर सील कर दिया गया। सेक्टर सात के दोनों मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट आए और जोखिम क्षेत्र की अवधि पूरी हो गई थी। अब सेक्टर सात को जोखिम क्षेत्र (हाॅटस्पाॅट) सूची से हटाने की मांग को लेकर गुरुवार की रात लोगों ने हंगामा कर दिया। लोगों ने कहा कि पुलिस के दिन-रात तैनात रहने के कारण वह अपने घरों में कैद है। अब इस क्षेत्र को खोला जाए। इस पर पुलिस ने लोगों से अभद्रता की। विरोध करने पर पुलिस ने एक संघ कार्यकर्ता को घर से खींचकर पीटा और उसे खींचकर थाने ले गए।

इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। संघ कार्यकर्ता की बेटी ने हाथ जोड़कर पुलिस से उन्हें छोड़ने की गुहार लगाई, लेकिन पुलिस नहीं मानी। वीडियो में पुलिसकर्मी लगातार गाली दे रहे हैं। बाद में लोगों के हंगामे के बाद संघ कार्यकर्ता को थाने से छोड़ दिया गया। लोगों ने इसकी शिकायत सांसद, विधायक, महानगर अध्यक्ष से की है। एसओ मेडिकल कुलवीर सिंह ने इस घटना की जानकारी से इनकार किया है। पुलिस का कहना है कि सेक्टर सात को हाॅटस्पाॅट कालियागढ़ी के साथ जोड़ दिया गया है। इस कारण उसे सील रखा गया है।

Back to top button
E-Paper