लॉक डाउन में देहरादून पुलिस ने बटोरी विदेशियों से वाहवाही, जानिए क्या है मामला…

देहरादून । वैश्विक महामारी कोरोना की रोकथाम के मद्देनजर मार्च में किए गए लॉक डाउन में जो जहां था वहीं फंस गया लेकिन इस दौर में उत्तराखंड के देहरादून जनपद की पुलिस का रूप भी दुनिया के सामने निखर कर आया। दून पुलिस ने दुनिया के कई देशों के नागरिकों को यहां से सुरक्षित निकालने में सहयोग करके खूब वाहवाही बटोरी है। इनमें से कई देशों ने प्रशंसा पत्र भेजकर देहरादून पुलिस की मुक्त कंठ से सराहना की है। देहरादून के पुलिस अफसरों का कहना है कि इस तरह की तारीफ से पुलिस का मनोबल बढ़ता है।

दरअसल, मार्च के महीने में जब अचानक देशव्यापी लॉक डाउन का ऐलान हुआ तब देहरादून में दुनिया के करीब दो दर्जन देशों के तकरीबन सवा सौ लोग यहां फंस गए। उस समय ये विदेशी अपने को काफी असुरक्षित महसूस कर रहे थे। उस दौरान एसपी (क्राइम) एवं कंट्रोल रूम के प्रभारी एसपी लोकजीत सिंह ने सम्बन्धित दूतावासों के साथ तालमेल बिठाते हुए टिहरी और ऋषिकेश जिला पुलिस के सहयोग से उन सभी विदेशियों की जरूरतें पूरी कराईं। पुलिस ने इन विदेशियों के विशेष विमान से यहां से जाने के दौरान भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इनमें जर्मनी के सर्वाधिक 58 लोग थे जबकि फ्रांस के 20, अमेरिका के 15, ब्राजील के 12, कनाडा के 8, इजराइल के 6 और दक्षिण कोरिया के 5 लोग थे। इनके अलावा न्यूजीलैंड, आस्ट्रेलिया, जापान, नीदरलैंड, अर्जेंटीना, इटली, बेल्जियम, स्पेन, ताइवान यूनाइटेड किंगडम आदि देशों के लोग भी थे।

देहरादून पुलिस ने लॉक डाउन के दौरान जिस तरह इन विदेशियों की मदद की और उन्हें यहां से भेजने में भरपूर मदद की, उसके लिए अब उनमें से कई देशों के दूतावासों ने देहरादून पुलिस की मुक्त कंठ से सराहना की है। इन देशों का कहना है कि डीआईजी अरुण मोहन जोशी और नोडल अधिकारी एसपी क्राइम लोकजीत सिंह अत्यंत संवेदनशील अधिकारी हैं। न्यूजीलैंड, ब्राजील, इजराइल, फ्रांस, स्वीडन और कनाडा आदि देशों के दूतावास ने डीआईजी अरुण मोहन जोशी और एसपी क्राइम लोकजीत सिंह के नाम से पत्र भेजकर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए पुलिस के काम की सराहना की है। उन्होंने कहा है कि पुलिस का व्यवहार बेहद अच्छा था। इसके अलावा निर्धारित अवधि से पहले ही पास जारी कर अपेक्षा से ज्यादा मदद करने के लिए भी तारीफ की गई है।

इस मामले में डीआईजी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि कोरोना की जंग में सामूहिक प्रयासों से ही पुलिस बेहतर ढंग से अपने दायित्वों को निभा पा रही है। सिपाही से लेकर अधिकारी तक दिल से काम कर रहे हैं। दूतावास से आए सराहना पत्र उसी का परिणाम हैं। एसपी क्राइम तथा नोडल अधिकारी (कोरोना) लोकजीत सिंह का कहना है कि पुलिस ने निःसंदेह हर मोर्चे पर शानदार काम किया है। दूतावासों के सराहना पत्रों से निःसंदेह पुलिस का मनोबल बढ़ेगा। कंट्रोल रूम के स्टाफ के साथ फील्ड में काम करने वाले पुलिस कर्मचारी भी इन कार्यों के लिए बधाई के पात्र हैं।

Back to top button
E-Paper