बुराड़ी कांड में अकेले बचे कुत्ते ने भी तोड़ा दम, सामने आयी मौत की ये वजह…

नई दिल्‍ली : दिल्‍ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्‍यों की रहस्‍यमय परिस्थितियों में हुई मौत की गुत्‍थी अभी पूरी तरह सुलझ भी नहीं पाई कि इस परिवार के एक और ‘सदस्‍य’ की जान चली गई। यह कोई और नहीं, बल्कि उनका पालतू कुत्‍ता ‘टॉमी’ है, जो भाटिया परिवार के 11 सदस्‍यों की मौत से पहले तक उनके बेहद करीब रहा था।

दिल्‍ली के बुराड़ी से दिल दहला देने वाली वारदात 01 जुलाई की सुबह सामने आई थी, जब भाटिया परिवार के 11 सदस्‍य अपने ही घर में फांसी के फंदे से लटकते मिले थे। हालांकि फिलहाल इन मौतों का कारण साफ तौर पर स्‍पष्‍ट नहीं है, पर परिवार के छोटे बेटे ललित भाटिया की डायरी से मिली जानकारियों के आधार पर इसे धार्मिक कारणों से ‘मोक्ष प्राप्ति’ के लिए खुदकुशी से जोड़कर देखा रहा है।

जुलाई की पहली तारीख को सामने आई इस घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। उस स्‍याह सुबह भाटिया परिवार में केवल एक जीवित जान मिली थी और वह टॉमी की थी। टॉमी घर की छत पर बंधा मिला था। परिवार के सभी सदस्‍यों की मौत के बाद उसे नोएडा में नया ठिकाना मिल गया था। यहां ‘हाउस ऑफ स्ट्रे एनिमल्स (HSA) में उसकी अच्‍छी देखभाल भी हो रही थी, पर रविवार शाम वह अचानक गिर गया और फिर उसकी मौत हो गई।

टॉमी को गोद लेने वाले पशु अधिकार कार्यकर्ता संजय महापात्रा ने बताया कि रविवार शाम वह अचानक गिर पड़ा, जिसके बाद उसे पशु चिकित्‍सक के पास ले जाया गया। डॉक्‍टर ने मौत की वजह हार्ट फेल होना बताया। महापात्रा ने इसकी जानकारी नोएडा पुलिस को दे दी है। उन्‍होंने फेसबुक पर भी टॉमी की मौत के बारे में बताया।

टॉमी की मौत की बड़ी वजह सदमा हो सकता है

माना जा रहा है कि टॉमी की मौत की बड़ी वजह सदमा हो सकता है, क्‍योंकि वह अपने मालिकों से दूर होने के बाद से ही गुमसुम रहता था। टॉमी भाटिया परिवार के घर में जब अकेला छत से बंधा मिला था, तब भी वह बुखार से तप रहा था। नोएडा में नया घर मिलने के बाद भी उसने दो दिनों तक कुछ खाया-पीया नहीं था। हालांकि धीरे-धीरे वह नई जिंदगी में रम रहा था, पर अपने मालिकों से दूर होने की वेदना वह शायद बर्दाश्‍त नहीं कर पाया।

Back to top button
E-Paper