श्री राम विवाह की कथा सुन जमकर झूमे श्रद्धालु

भास्कर समाचार सेवा

सिकन्दरबाद। नगर के रामलीला ग्राउंड में चल रही श्री राम कथा में राम विवाह कथा सुनने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ गई। श्रद्धालुओं ने राम विवाह की कथा को सुनकर अपने आपको धन्य समझा, राम विवाह कथा सुनने के लिए श्रद्धालु सिर पर पगड़ी पहन कर आए जिससे महिलाएं भी शामिल थी। कथा वाचक देवकीनंदन महाराज ने बताया कि श्री राम के गुरु विश्वामित्र को संदेश मिला कि राजा जनक के महल में एक शिव धनुष है जो सीता माता ने उठा लिया था । जब यह बात राजा जनक को पता चली तो उन्होंने सभी राज्यों के राजाओं को संदेश दिया जो भी राजा इस धनुष को उठा लेगा उसी से सीता का विवाह होगा। यह सुनकर स्वयंवर में सभी राजा उपस्थित हुए और धनुष को उठाने ला प्रयास किया लेकिन उठा न सके। यह सुनकर विश्वामित्र अपने शिष्य भगवान श्री राम के साथ स्वयंवर में पहुंचे और भगवान श्री राम ने अपने गुरू विश्वामित्र का लआदेश पाकर धनुष को उठाकर तोड़ दिया । राज महल श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा । सीता माता ने भगवान श्रीराम के गले में वरमाला डाल दी इस प्रकार विवाह संपन्न हुआ । यह देख कर पंडाल में श्रद्धालुओं ने श्री राम के जयकारे और सीता माता के जयकारों से पूरे पंडाल गूंजने उठा । श्रद्धालु भगवान श्री राम के विवाह के उत्सव में जमकर झूमे।

Back to top button