Doctors Strike: इस तारीख को हड़ताल पर रहेगें झारखंड के डाक्टर्स, जानिए क्या है वजह ?

झारखंड के डाक्टरों ने अपनी सुरक्षा की मांग करते हुए 9 मई से अपनी सेवा बंद करने का फैसला लिया है। झारखंड IMA ने राज्य सरकार को अल्टीमेटम दिया है। इसके बाद भी सरकार की ओर से डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर कोई निर्णय नहीं लिए जाते हैं तो झारखंड के सभी गवर्नमेंट और प्राइवेट सेक्टर के डॉक्टर हड़ताल पर चले जाएंगे।

धनबाद में डॉक्टरों को लगातार मिल रही धमकी और पिछले दिनों डॉक्टर के परिवार पर हमले के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) धनबाद ने 9 मई को हड़ताल पर जाने की घोषणा कर दी है। झारखंड IMA ने इसे लेकर राज्य सरकार को अल्टीमेटम दिया है। IMA का कहना है कि जल्द से जल्द डॉक्टरों को सुरक्षा मुहैया करायी जाये, नहीं तो नौ मई को राज्य के डॉक्टर्स हड़ताल पर चले जाएंगे।डॉक्टरों पर हमले और रंगदारी मांगने के मामलों में शओ धनबाद ने सख्त रुख अपना रहा है। IMA के सचिव डॉ सुशील कुमार ने कहा कि डॉक्टरों पर हमले हो रहे हैं। डॉ समीर कुमार से निरंतर रंगदारी मांगी जा रही है। ऐसे में डॉक्टरों के लिए अब काम करना मुश्किल हो गया है। असुरक्षा के वातावरण में चिकित्सकीय कार्य सुचारू रूप से करना अब वश में नहीं रहा। डॉक्टर्स लगातार मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट और सुरक्षा की मांग कर रहे हैं।


तो वहीं IMA के डॉ प्रदीप सिंह ने कहा कि हाल के दिनों में डॉक्टरों पर हमले व रंगदारी मांगने के मामले बढ़ गए हैं। इसे लेकर हम लोगों ने सरकार से और पुलिस विभाग के मुखिया से भी मुलाकात की थी। लेकिन डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर उनकी ओर से कोई कदम उठाया नहीं जा रहा है और ना ही कोई कानून पास कराने को लेकर सरकार गंभीर है. इसलिए डॉक्टर अब आंदोलन के मूड में है। फिलहाल हम लोग सरकार के निर्णय का इंतजार कर रहे हैं।


आपको बता दें एक दिन पहले ही धनबाद में अमन गैंग के खौफ से सर्जन डॉ समीर ने अपनी क्लिनिक बंद कर दूसरे शहर को चले गए हैं। अमन सिंह गैंग द्वारा रंगदारी मांगने और न देने पर जान से मारने की धमकी के बाद मटकुरिया के सुयश क्लिनिक के संचालक व सर्जन डॉ समीर कुमार खौफजदा हैं। उन्हें पिछले कई दिनों से धमकी भरे फोन कॉल आ रहे थे जिनसे वो काफी परेशान है।


तो वहीं कुछ दिन पहले ही धनबाद में ही एक डाक्टर के कार पर हमला किया गया। वे अपनी पत्नी के साथ कार में थे। हमलावारों ने बाइक से करीब 10 किलोमिटर तक उनका पीछा भी किया। किसी तरह उन्होंने अपनी जान बचाई और फिर FIR भी किया। लेकिन अभी तक पुलिस मूकदर्शक ही बनी हुई है। डीजीपी से भी सुरक्षा को लेकर बात की गई लेकिन कुछ नहीं हुआ।


सरकार व प्रशासन की ओर से कोई पहल न किए जाने पर डॉक्टर्स ने हड़ताल करने का फैसला किया है। इस लिए 9 मई से अनिश्चितकालीन हड़ताल का निर्णय लिया गया है। IMA ने स्पष्ट कहा है कि जब तक डाक्टरों व उनके परिवार को सुरक्षा नहीं दी जाती है, फिरौती व गैंग से निजात नहीं मिलती है तब तक वे अपनी सेवा बंद रखेंगे।

Back to top button