उप्र : बारिश ने मचाया तांडव, 24 घंटे में 12 की दर्दनाक मौत, अलर्ट जारी

लखनऊ । राजधानी लखनऊ व आसपास जनपदों में हो रही बारिश और आकाशीय बिजली के गिरने से पिछले 24 घंटे के भीतर 12 लोगों की मौत चुकी है। इसमें 14 घायल हुए जबकि 226 कच्चे मकान ढह गए। यह आंकड़ा मंगलवार की सुबह तक का है।
राहत आयुक्त संजय प्रसाद ने बताया कि मौसम विभाग ने अगले दो दिन यानि की गुरुवार की शाम तक प्रदेश में मूसलाधार बारिश होने की आशंका व्यक्त की है। इसको देखते हुए शासन ने अलर्ट जारी किया है। राहत बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ, जिला प्रशासन, जल पुलिस को शहर की नदियों के किनारे लगाया है, ताकि किसी भी आपदा के आने से पहले वह इस पर अपना नियंत्रण पा लें।
उन्होंने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में हो रही तेज बारिश और आकाशीय बिजली की चपेट में आ जाने से गोण्डा, कुशीनगर में तीन-तीन, मिर्जापुर में दो, बहराइच, एटा और सीतापुर में एक-एक की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 14 गंभीर रुप से घायल हैं, जिनका इलाज कराया जा रहा है। इस बारिश में 226 लोगों के कच्चे मकान ढह गये हैं, पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से कार्रवाई की जा रही है।

अब तक 225 से ज्यादा हो चुकी मौतें 
राहत आयुक्त संजय प्रसाद ने बताया जुलाई अगस्त और सितम्बर माह में हो रही बारिश से पूरे प्रदेश में त्राहि-त्राहि मचा हुआ है। नदियां उफान पर हैं। लोगों के घरों में बारिश और नदियों का पानी प्रवेश कर गया है। इसके चलते नदियों के लगातार बढ़ते जलस्तर को देखते हुए लोग घर से पलायन करने को मजबूर हो रहे हैं। पूरे प्रदेश में इस बारिश के चलते अभी तक 225 मौतें हो चुकी है। साथ ही आठ सौ से ज्यादा लोग बेघर हो चुके हैं।

Back to top button
E-Paper