किसान जैविक खादों का प्रयोग कर भूमि की उर्वरा शक्ति को बढ़ाएं – डीएम


– अपराधों को रोकने में महिलायें निभा सकतीं हैं अहम भूमिका – एसपी
मैनपुरी – किसान शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी कर उनका लाभ लें, परंपरागत खेती को वैज्ञानिक ढंग से कर कम लागत में अच्छी पैदावार कर अपनी आर्थिक स्थिति सुधारें, रासायनिक खादों के अंधाधुंध प्रयोग से बचें, फसल चक्र अपनाएं, जैविक खादों का प्रयोग कर भूमि की उर्वरा शक्ति को बढ़ाएं, कोई भी किसान भाई किसी के बहकावे में न आएं बल्कि विभाग के अधिकारियों से जानकारी करें यदि किसी कृषक को शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पाने में कोई असुविधा हो तो संबंधित खंड विकास अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, कृषि विभाग के अधिकारियों के संज्ञान में लाएं, किसी भी कार्य दिवस में प्रातः 11 बजे उनसे संपर्क कर बताएं, किसानों की समस्याओं का सर्वोच्च प्राथमिकता पर निदान होगा, उन्हें समय से खाद, बीज, सिंचाई हेतु पानी की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी।


      उक्त उद्गार जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह ने किसान कल्याण मिशन के तहत क्रिश्चियन मैदान में आयोजित किसान मेला, गोष्ठी को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने उपस्थित किसानों का आह्वान करते हुए कहा कि शासन ने किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के उद्देश्य से तमाम योजनाएं संचालित की हैं, मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना बीमा योजना, किसान सर्वहित बीमा योजना, कृषि यंत्र अनुदान योजना, किसान उपहार योजना जैसी तमाम योजनाएं संचालित है, जिन पर मिलने वाली अनुदान की धनराशि सीधे पात्र किसानों के खातों में भेजी जा रही है ताकि किसानों को बिचैलियों से छुटकारा मिल सके। उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी पैदावार का वाजिब मूल्य मिले, इसके लिए निर्धारित समर्थन मूल्य पर गेहूं, धान, मक्का की खरीद की जा रही है, जनपद में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष अब तक 03 गुना धान क्रय किया जा चुका है, मक्का भी निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष डेढ़ गुना क्रय की जा चुकी है। उन्होंने किसानों से कहा कि अपनी उपज का सामान क्रय केंद्रों पर बेचें और समर्थन मूल्य पाएं, मंडी में सामान बेचने पर आढती से 6-आर अवश्य लें ताकि मंडी की संचालित योजनाओं का लाभ मिल सके।


      डीएम ने कहा कि कृषक कृषि योजनाओं के साथ-साथ अन्य संचालित योजनाओं की भी जानकारी कर लाभ लें, कन्या सुमंगला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ पाने के लिए अपने खंड विकास अधिकारी कार्यालय से संपर्क करें, जो पात्र व्यक्ति आवास योजना का लाभ पाने से वंचित है, उनकी पात्रता सूची विकास खंडों, नगरीय अभिकरण डूडा कार्यालय में उपलब्ध है, शहरी क्षेत्र के पात्र व्यक्ति डूडा कार्यालय एवं ग्रामीण क्षेत्र के पात्र व्यक्ति अपने संबंधित ब्लाॅक पर जाकर पात्रता सूची में अपना नाम देख लें, पात्रता सूची में शामिल सभी लोगों को आवास योजना का लाभ मिलेगा। उन्होने किसानों से कहा कि यदि दुर्भाग्यवश किसी किसान की दुर्घटना के कारण मृत्यु हो या अपंगता की स्थिति हो, तो तत्काल योजना का लाभ पाने के लिए आवेदन करें, पात्र किसानों को सर्वहित बीमा योजना के तहत मृत्यु होने की दशा में 05 लाख रू. की आर्थिक सहायता मिलेगी।
         पुलिस अधीक्षक अविनाश पाण्डेय ने गोष्ठी को संबोधित करते हुए विशेष तौर से महिलाओं का आह्वान करते हुए कहा कि अपराध रोकने में महिला अहम भूमिका अदा कर सकती हैं यदि किसी पड़ोस की महिला पर अत्याचार हो रहा हो या किसी के द्वारा किसी बालिका, महिला को परेशान किया जा रहा हो तो तत्काल 181, 1090 एवं 112 पर सूचना दें यदि कोई फेरीवाला बार-बार गांव में आ रहा हो तो उससे जानकारी करें, हो सके तो उसका फोटो खींच लें, गांव की गतिविधियों पर नजर रखें यदि कोई अवाछंनीय गतिविधि देखें तो पुलिस के संज्ञान में लाएं, गांव के बाहर नए आवास बनाकर रह रहे लोग सुरक्षा की दृष्टि से अपने-अपने घरों में नाइट विजन सीसीटीवी कैमरे लगवाएं। उन्होंने कहा कि अपराध रोकना, कानून व्यवस्था को बनाए रखना जिला प्रशासन की जिम्मेदारी है यदि किसी अपराधी को सजा दिलाने के लिए आपको बार-बार पुलिस की सहायता लेनी पड़े तो आप दिन में कई बार 112 पर फोन करें, अपने संबंधित थाने को बताएं, पुलिस आपकी हर समय हर संभव मदद करेगी।
      जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी, उप जिलाधिकारी सदर ने सर्पदंश से मृतक प्रमोद कुमार की पत्नी सीमा को मंडी परिषद की संचालित मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना के तहत 03 लाख रू. की आर्थिक सहायता का चेक उपलब्ध कराया वहीं रोटावेटर, पंपसेट योजना के अंतर्गत सुमनलता, सुनील कुमार, अवनीश कुमार, प्रताप सिंह आदि को अनुदानित राशि के प्रमाण पत्र मुहैया कराये। उन्होंने कृषि विभाग, खाद्य एवं प्रसंस्करण, पशुपालन आदि विभागों के स्टाॅल का भी निरीक्षण करते हुये कहा कि जिन कृषकों ने अभी तक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ पाने हेतु आवेदन नहीं किये हैं, उनसे तत्काल आवेदन करायें, जिनके नाम आदि दुरूस्त होने हैं उन्हें प्राथमिकता पर ठीक करायें जायें ताकि उन्हे भी योजना का लाभ मिल सके।
         इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सदर ऋषिराज, भूमि विकास चेयरमैन अहिवरन सिंह, उप निदेशक कृषि डी.वी. सिंह, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली भानू प्रताप, कृषि वैज्ञानिक, बड़ी संख्या में महिला-पुरुष कृषक आदि उपस्थित रहे।

Back to top button
E-Paper