फतेहपुर : स्वास्थ्य कर्मियों के आवास हुए जर्जर, मरम्मतीकरण की उठी मांग

दैनिक भास्कर ब्यूरो

फतेहपुर । जहानाबाद में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जहानाबाद में स्वास्थ्य कर्मियों के निवास करने हेतु सन् 1996 में बनवाए गए डॉक्टरों के चार, तृतीय क्लास कर्मचारियों के 6 तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के 6 कुल 16 आवासों जिनमें स्वास्थ्य कर्मी निवास करते हैं की हालत जर्जर होने के साथ-साथ दरवाजे टूट चुके हैं तथा बारिश होने पर छतों से पानी टपकता रहता है जिसके चलते स्वास्थ्य कर्मियों में किसी अनहोनी घटना के घटने का भय व्याप्त रहता है।

इस परेशानी से निजात पाने हेतु कर्मचारी अपने आवासों की छतों पर बारिश के दिनों में मोमिया या बरसाती बिछा देते हैं ताकि पानी नीचे ना टपके लेकिन कुछ ही दिनों में उस बरसाती को बंदरों द्वारा फाड़ दिया जाता है इसी के साथ-साथ आवासों की जर्जर दीवारों पर जंगली बेल ने कब्जा कर रखा है जिसके चलते कर्मचारियों के आवासों में जहरीले कीड़े भी पहुंच जाते हैं। इस संबंध में चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर जे पी वर्मा ने लिखित प्रार्थना पत्र मुख्य चिकित्साधिकारी फतेहपुर को भेज कर सीएचसी में बने आवासों के मरम्मती करण कराये जाने की मांग की है।

Back to top button